सरकार कुपोषण जांचने के महिलाओं को पहनाएगी चुड़ियां

सरकार कुपोषण जांचने के महिलाओं को पहनाएगी चुड़ियां

  • Last Updated: February 4, 2016, 3:59 PM IST
  • Share this:
सरकार कुपोषण जांचने के महिलाओं को पहनाएगी चुड़ियां
राज्य में कुपोषित महिलाओं को चिह्नित करने के लिए नई योजना बनाई गई है. इस योजना के तहत कुपोषण की जांच के लिए लाल खतरे की चूड़ी तैयार की गई है. ये खास चूड़ी महिलाओं के कुपोषण को आंकने का पैमाना होगी. महिला की बांह यदि 23 सेमी से कम है, तो उसे कुपोषित माना जाएगा. यदि चूड़ी लूज होती है तो माना जाएगा कि महिला कुपोषित है. फिलहाल इस योजना को पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर राज्य के पूर्णिया जिला में चलाया जा रहा है. नए पैमाने के तहत यदि चूड़ी पूरी तरह से बांह में टाइट होती है, तो महिला कुपोषित नहीं मानी जाएंगी. इस प्लान को जीविका स्वाभिमान योजना के तहत चलाया जा रहा है, जिसमें यूनिसेफ की मदद भी ली जा रही है. इस स्कीम के तहत पांच साल से कम उम्र के बच्चों की बांह को 11 सेमी से कम होने पर कुपोषित माना जा रहा है. कुपोषित बच्चों और महिलाओं को चिह्नित करने का कार्यक्रम राज्य सरकार की ओर से चलाया जा रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading