मानवाधिकार रिकॉर्ड सुधारने के लिए चीन ने की सुधारों की घोषणा

मानवाधिकार रिकॉर्ड सुधारने के लिए चीन ने की सुधारों की घोषणा
फोटो साभार : Getty Images

चीन ने मानवाधिकार रिकॉडरें को लेकर वैश्विक स्तर पर हो रही अपनी आलोचना के बीच अधिकारों की रक्षा संबंधी कानूनों में सुधार करने की घोषणा की है।

  • भाषा
  • Last Updated: September 12, 2016, 1:09 PM IST
  • Share this:
बीजिंग। चीन ने मानवाधिकार रिकॉर्डों को लेकर वैश्विक स्तर पर हो रही अपनी आलोचना के बीच अधिकारों की रक्षा संबंधी कानूनों में सुधार करने की घोषणा करने के साथ साथ जेलों एवं हिरासत केंद्रों के हालात में सुधार के लिए उठाए जाने वाले कदमों को आज रेखांकित किया।

चीन में मानवाधिकारों की न्यायिक रक्षा में नई प्रगति’’ शीर्षक वाले आज जारी एक आधिकारिक श्वेतपत्र में कहा गया है कि चीनी न्यायिक अधिकारियों ने मानवाधिकारों की कानूनी गारंटी प्रक्रिया में और सुधार के लिए कई क्षेत्रों में सुधार की बात कही है।

केंद्रीय कैबिनेट की ओर से जारी पत्र में कहा गया है कि चीन ने मामला दर्ज करने की समीक्षा प्रणाली को मामला दर्ज करने की पंजीकरण प्रणाली में बदलकर मामला दायर करने की प्रणाली में सुधार किए हैं। श्वेत पत्र में कहा गया है कि चीन ने आपराधिक प्रक्रिया कानून में संशोधन किया है और गैरकानूनी सबूतों के निष्कासन, आरोपी को संदेह का लाभ देने में वैधता के सिद्धांतों को लागू किया है।



इसमें कहा गया है कि देश ने विवादों के प्रभावशाली निपटारे के लिए दीवानी प्रक्रिया कानून में संशोधन किया है। प्रशासनिक मुकदमों में निजी पक्षों के हितों एवं वैध अधिकारों की रक्षा को मजबूत करने के लिए प्रशासनिक प्रक्रिया कानून में संशोधन किया गया है।
चीन ने घरेलू हिंसा के पीड़ितों के निजी अधिकारों की कानूनी रक्षा को मजबूत करने के लिए पहला घरेलू हिंसा विरोधी कानून बनाया है।चीन ने जेलों एवं लेबर कैंपों में खराब हालात के कारण हो रही अपनी आलोचना के मद्देनजर हिरासत में बंद लोगों के कानूनी अधिकारों एवं हितों की रक्षा और अपनी जेलों में सुधार करने के लिए उठाए जाने वाले कदमों को रेखांकित किया।
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading