डीआरटी ने बैंकों से कहा, माल्या से 6,203 करोड़ की वसूली शुरू करें

डीआरटी ने बैंकों से कहा, माल्या से 6,203 करोड़ की वसूली शुरू करें
डीआरटी ने गुरुवार को भारतीय स्टेट बैंक के नेतृत्व वाले बैंक समूह के मामले में बैंकों से कहा कि वह बिजनेसमैन विजय माल्या और उनकी कंपनियों से किंगफिशर एयरलाइंस मामले में 6,203 करोड़ रुपये का कर्ज वसूलने की प्रक्रिया शुरू करें.

डीआरटी ने गुरुवार को भारतीय स्टेट बैंक के नेतृत्व वाले बैंक समूह के मामले में बैंकों से कहा कि वह बिजनेसमैन विजय माल्या और उनकी कंपनियों से किंगफिशर एयरलाइंस मामले में 6,203 करोड़ रुपये का कर्ज वसूलने की प्रक्रिया शुरू करें.

  • Share this:
ऋण वसूली न्यायाधिकरण (डीआरटी) ने गुरुवार को भारतीय स्टेट बैंक के नेतृत्व वाले बैंक समूह के मामले में अपना आदेश सुनाते हुए बैंकों से कहा कि वह बिजनेसमैन विजय माल्या और उनकी कंपनियों से किंगफिशर एयरलाइंस मामले में 6,203 करोड़ रुपये का कर्ज वसूलने की प्रक्रिया शुरू करें. इस राशि पर 11.5 प्रतिशत की सालाना दर से ब्याज भी लगाया जाएगा.

डीआरटी के पीठासीन अधिकारी के. श्रीनिवासन ने अपने आदेश में कहा कि मैं बैंकों को यह आदेश देता हूं कि वह माल्या और यूबीएचएल, किंगफिशर फिनवेस्ट और किंगफिशर एयरलाइंस सहित उनकी कंपनियों से 11.5 प्रतिशत सालाना ब्याज दर पर 6,203 करोड़ रुपये की वसूली की प्रक्रिया शुरू करें. डीआरटी के किराए पर लिए नए परिसर में यहां श्रीनिवासन ने इसके साथ ही 20 उन आवेदनों का भी निपटान कर दिया जो इस मामले में पक्षकार बनाए जाने के बारे में थे. इनमें से ज्यादातर आवेदन माल्या और उनकी कंपनियों की ओर से दिए गए थे.

डीआरटी के माल्या और उनकी कंपनियों से कर्ज वसूली की कार्रवाई शुरू किए जाने के गुरुवार के आदेश से न्यायाधिकरण में पिछले तीन साल से जारी यह लड़ाई खत्म हो गई. यह मामला स्टेट बैंक की अगुवाई में 17 बैंको ने दायर किया था. इन बैंकों ने किंगफिशर एयरलाइंस को कर्ज दिया है. बैंकों के समूह ने 2013 में डीआरटी में मामला दायर किया था. स्टेट बैंक ने कर्ज वसूली के अलावा तीन और आवेदन दायर किए हैं जिनमें माल्या को गिरफ्तार करने और कर्ज लौटाने में नाकाम रहने पर माल्या का पासपोर्ट जब्त करने का भी आवेदन किया है. माल्या पिछले साल दो मार्च को देश छोड़कर ब्रिटेन चले गए. उन्हें मुंबई की एक अदालत ने प्रवर्तन निदेशालय के मनी लॉन्ड्रिंग मामले में घोषित अपराधी बताया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading