विनय महतो की मौत के बाद मंगलवार को सफायर स्कूल से चार बच्‍चों ने छोड़ा होस्‍टल

विनय महतो की मौत के बाद मंगलवार को सफायर स्कूल से चार बच्‍चों ने छोड़ा होस्‍टल

  • Share this:
सफायर इंटरनेशनल स्कूल में मंगलवार को स्कूल प्रबंधक की अभिभावकों के साथ बैठक हुई और बाल संरक्षण आयोग की टीम भी पड़ताल के लिए पहुंची. बावजूद इसके अभिभावकों के मन से डर नहीं दूर हुआ.

इस बीच सफायर स्कूल ने डैमेज कंट्रोल की असफल कोशिश की. ऐसे में सबसे बड़ा सवाल यहां पढ़ रहे बच्चों के करियर का है. परीक्षाएं सिर पर हैं और स्कूल कब खुलेगा यह तय नहीं. खुलेगा भी तब अभिभावक स्कूल के प्रति कितना विश्वास फिर से बटोर पाएंगे, कहना मुश्किल है.

मंगलवार को चार और बच्चों ने छोड़ा हॉस्टल



सफायर स्कूल में विनय महतो की मौत के बाद स्कूल के बच्चे दहशत में है. हालात ऐसे कि बच्चों लगातार स्कूल को छोड़कर जा रहे हैं. मंगलवार को भी चार और बच्चों ने स्कूल के हॉस्टल को छोड़ दिया. इन बच्चों के अभिभावक दूसरे राज्य में रहते थे. लिहाजा बच्चों ने यह फैसला मंगलवार को लिया. सफायर स्कूल की छात्रा प्रियांशु कहती हैं कि हम स्अूडेंट्स चाहते हैं कि सच सामने आए. वहीं एक अन्य छात्रा सैरन ने कहा कि गुनाहगार जल्दी से जल्दी पकड़ में आए तभी कुछ स्पष्ट हो सकेगा.
बैठक के बाद भी नहीं दूर हुई अभिभावकों की चिंता

स्कूल मैनजेमेंट ने बच्चों के अभिभावकों के साथ बैठक की और उनका भरोसा जीतने की कोशिश की लेकिन अभिभावकों ने साफ शब्दों में कहा कि जब तक वे खुद से सु्रक्षा को लेकर संतुष्ट नहीं हो जाते तब तक वे अपने बच्चों को स्कूल की दहलीज पर कदम तक नहीं रखने देंगे. अभिभावक ज्योतिश्वर सिंह ने कहा कि स्कूल की सुरक्षा व्यवस्था से जब तक पूरी तरह आश्वस्त नहीं होते, बच्चे को नहीं आने देंगे.

घटना बड़ी है और पुलिस की चुप्पी कुभंकर्ण की तरह, लिहाजा स्कूल की जमकर फजीहत हो रही है. स्कूल के दाग धोने की कोशिश में सफायर स्कूल के डायरेक्टर रोहित साहू ने कहा कि रांची पुलिस यदि इस मामले में असफल है तो इस मामले की सीबीआई जांच की जानी चाहिए.

आयोग ने माना मौत को हत्या

इस बीच जांच के लिए मंगलवार को स्कूल पहुंची बाल संरक्षण आयोग की टीम ने विनय की मौत को हत्या माना है. साथ ही बाल संरक्षण आयोग के सदस्य यशवंत जैन ने कहा कि पुलिस को निर्देश दिया गया है कि पूरे मामले की सच्चाई जल्द सामने लाये. टीम करीब चालीस मिनट तक सफायर स्कूल में रही.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज