प्रॉपटाइगर, हाउसिंग डॉट कॉम के विलय की घोषणा, 5.50 करोड़ डॉलर जुटाएंगे

प्रॉपटाइगर, हाउसिंग डॉट कॉम के विलय की घोषणा, 5.50 करोड़ डॉलर जुटाएंगे
प्रतिकातमक फोटो

ऑनलाइन रीयलिटी सेवा क्षेत्र में एकीकरण और सुदृढ़ीकरण की शुरुआत करते हुए प्रॉपटाइगर डॉट कॉम और हाउसिंग डॉट कॉम ने मंगलवार को विलय की घोषणा की है।

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
नई दिल्ली। ऑनलाइन रीयलिटी सेवा क्षेत्र में एकीकरण और सुदृढ़ीकरण की शुरुआत करते हुए प्रॉपटाइगर डॉट कॉम और हाउसिंग डॉट कॉम ने मंगलवार को विलय की घोषणा की। इस विलय के बाद यह देश में ऑनलाइन रीयल एस्टेट सेवा देने वाली सबसे बड़ी कंपनी बन जायेगी। नई संयुक्त कंपनी बाजार से 5.50 करोड़ डालर का निवेश भी जुटायेगी। न्यूजकॉर्प के समर्थन वाली प्रॉप टाइगर डॉट कॉम और सॉफ्टबैंक के समर्थन वाले हाउसिंग डॉट कॉम ने घोषणा की है कि वह दोनों साथ मिलकर काम करेंगे। वह भारत की सबसे बड़ी ऑनलाइन रीयल एस्टेट सेवा क्षेत्र की कंपनी बन जायेंगे।

कंपनी की यहां जारी विज्ञप्ति के अनुसार इस सौदे के बाद बनने वाले संयुक्त उद्यम में आरईए ग्रुप लिमिटेड 5 करोड़ डॉलर निवेश करेगा। इसकी सहयोगी सॉफटबैंक ग्रुप कार्प भी 50 लाख डालर का निवेश करेगी। प्रापटाइगर में न्यूजकॉर्प सबसे बड़ी शेयरधारक बनी हुई है। उसकी आरईए ग्रुप में भी 61.6 प्रतिशत हिस्सेदारी है।

विलय के बाद बनने वाले संयुक्त उद्यम में आरईए और सॉफ्टबैंक के प्रतिनिधि बोर्ड में शामिल होंगे जबकि चेयरमैन का पद न्यूजकॉर्प के पास ही रहेगा। प्रापटाइगर के सह-संस्थापक और सीईओ ध्रुव अग्रवाल नई कंपनी के सीईओ होंगे।



हाउसिंग डॉट कॉम के सीईओ जसोन कोठारी ने भारतीय इंटरनेट क्षेत्र में नये अवसरों की तलाश का फैसला किया है। हालांकि वह फरवरी तक नये संयुक्त उद्यम में सलाहकार बने रहेंगे।



विज्ञप्ति में कहा गया है कि संयुक्त उद्यम में प्रॉप टाइगर, हाउसिंग डॉट कॉम और मकान डॉट कॉम सभी की समर्थन और मजबूती होगी। इससे ग्राहकों को रीयल एस्टेट क्षेत्र में बेहतर अनुभव प्राप्त होगा।
First published: January 10, 2017, 3:59 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading