राजपूत समाज भी कूदा आरक्षण की आग में, देशव्यापी आंदोलन की दी चेतावनी

राजपूत समाज भी कूदा आरक्षण की आग में, देशव्यापी आंदोलन की दी चेतावनी
अलवर जिले के शाहजहांपुर में आरक्षण की मांग को लेकर राजपूत समाज के युवाओं ने मंगलवार को कुतीना गांव में चौपाल पर एकत्रित होकर नया फैसला लिया है.

अलवर जिले के शाहजहांपुर में आरक्षण की मांग को लेकर राजपूत समाज के युवाओं ने मंगलवार को कुतीना गांव में चौपाल पर एकत्रित होकर नया फैसला लिया है.

  • Share this:
अलवर जिले के शाहजहांपुर में आरक्षण की मांग को लेकर राजपूत समाज के युवाओं ने मंगलवार को कुतीना गांव में चौपाल पर एकत्रित होकर नया फैसला लिया है.

उन्होंने आर्थिक आधार पर राजपूत और अन्य अगड़ी जातियों सहित सभी जातियों को आरक्षण देने और उसे पूरी तरह समाप्त करने की मांग को लेकर राष्ट्रव्यापी आंदोलन करने का निर्णय लिया है.

राजपूत समाज के युवा मण्डल अध्यक्ष मोहन सिंह चौहान, ज्ञानेन्द्र सिंह चौहान के नेतृत्व में बड़ी संख्या में मौजूद कुतीना, कांकर, गूगलकोटा, भोपालबसई सहित दर्जनभर राजपूत समाज के गांवों से पहुंचे युवाओं ने आरक्षण की मांग को लेकर देश में फैली आग के विरोध में प्रदर्शन करते हुए सभी जातियों का जातिगत आरक्षण समाप्त कर आर्थिक आधार पर आरक्षण देने की मांग की.



युवाओं ने प्रदर्शन करते हुए बताया कि अगड़ी जातियों में भी आर्थिक रूप से कमजोर परिवार अपना जीवन बसर कर रहे हैं जिन्हें सरकारी सहायता की आवश्यकता रहने के बावजूद जातिगत आरक्षण की आग में बेवजह झुलसना पड़ रहा है.
जातिगत आरक्षण समाप्त कर आर्थिक आधार पर आरक्षण की मांग को लेकर राष्ट्रव्यापी आंदोलन की युवाओं ने चेतावनी दी है. युवाओं ने राजपूत करणीसेना के आन्दोलन को समर्थन देते हुए देशव्यापी आंदोलन को तेज कर अपने हक की लड़ाई लड़ने का ऐलान किया है.

चार श्रेणियों को मिले आरक्षण
-आर्थिक आधार पर हर गरीब को, चाहे वो किसी भी जाती धर्म का क्यों न हो.
-हर अपंग (दिव्यांग) को.
-हर अनाथ को.
-देश के लिए शहीद होने वालों के बच्चों को.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading