एक इंसान, जिसे संता-बंता ने बना दिया 16 साल में अरबपति!

एक इंसान, जिसे संता-बंता ने बना दिया 16 साल में अरबपति!
संता-बंता के नाम से सरदारों पर बनाए गए चुटकुलों को लेकर भले ही कुछ लोग विरोध कर रहे हों लेकिन संता-बंता ने चंडीगढ़ के जेडी घई को 16 साल में अरबपति बना दिया।

संता-बंता के नाम से सरदारों पर बनाए गए चुटकुलों को लेकर भले ही कुछ लोग विरोध कर रहे हों लेकिन संता-बंता ने चंडीगढ़ के जेडी घई को 16 साल में अरबपति बना दिया।

  • Share this:
चंडीगढ़। संता-बंता के नाम पर बनाए गए चुटकुलों को लेकर भले ही कुछ लोग विरोध कर रहे हों और ऐसी वेबसाइट्स पर बैन की मांग उठा रहे हों, लेकिन संता-बंता ने चंडीगढ़ के जेडी घई को 16 साल में अरबपति बना दिया। अपने साथ एक आइडिया लेकर 16 साल पहले जेडी घई लुधियाना से चंडीगढ़ आए और संता-बंता के नाम से एक वेबसाइट शुरू की।

परिवार के परंपरागत बिजनेस को छोड़कर हंसाने का बिजनेस शुरू करने पर उनके परिवार के लोग और दोस्त उन पर हंसे, लेकिन उन्होंने किसी की परवाह नहीं की और संता-बंता डॉट कॉम को धीरे-धीरे उन्होंने आगे बढ़ाया। मौलिक चुटकुले बनाने वाली उनकी आठ की टीम ने आज पूरी दुनिया में जगह बना ली है।

बड़ी-बड़ी मोबाइल कंपनियां, मीडिया हाउस और कुछ लोग ऐसे हैं जो सीधे उनसे चुटकुलों को खरीदते हैं। घई बताते हैं कि परिवार उनकी दादी को बंतो के नाम से बुलाते थे और उनकी बहन संतो थी। परिवार में उनको लेकर बहुत सी हंसी मजाक की बातें होती थी और उनके दिमाग में नाम का आइडिया भी उनके नाम से आया।



उनकी कंपनी में आठ कर्मचारी काम करते हैं जो कि दिन रात चुटकुलों को बनाने के बारे में सोचते हैं। अलग-अलग श्रेणियों में उनके चुटकुले मांग के अनुसार और हर जरूरत के हिसाब से चुटकुले तैयार किए जाते हैं। आज उनकी वेबसाइट को छह लाख से ज्यादा लोग हर दिन देखते है और इस कंपनी की कीमत एक अरब रुपये से भी ज्यादा की बताई जाती है।
हालांकि संता-बंता को लेकर विरोध और विवाद पर जेडी घई कुछ भी कहने से इनकार करते हैं। उन्होंने कहा कि चूंकि मामला अदालत में भी है इसलिए वे इस मामले में कुछ नहीं कहेंगे। उनके उपभोक्ताओं में सिर्फ पुरुष नहीं हैं बल्कि बड़ी संख्या महिलाओं की भी है जो कि अपनी किटी पार्टीज में उन्हें शेयर करती है।

कंपनी से जुड़े लोग बताते हैं कि संता-बंता की छवि धर्म निरपेक्ष है और इस बात को बेहद ध्यान रखा जाता है कि उनके चुटकुलों से किसी की धार्मिक या फिर किसी अन्य तरह की भावनाएं आहत नहीं हो।

दुनिया भर में चल रहा है ऑनलाइन जोक्स का कारोबार

दुनिया भर में हर भाषा में चुटकुले जारी करने वाली ऑनलाइन वेबसाइट्स हैं। इसमें कुछ साइटें लोगों से जोक मंगाती हैं, तो कई साइटें जोक बेचने के कारोबार से जुड़ी हैं। कई अखबारों के वेबसाइट में भी चुटकुलों का सेक्शन होता है। अब जोक जारी करने वाले मोबाइल एप्स भी आ चुके हैं।

थोड़ी सी हंसी

- 50 से ज्यादा वेबसाइटें चुटकुलों के कारोबार में जुड़ी हैं भारत में

- 40 से ज्यादा जोक के मोबाइल ऐप उपलब्ध हैं हिंदी और क्षेत्रीय भाषाओं में

- 100 करोड़ रुपए का सालाना टर्नओवर है चुटकुलों के ऑनलाइन कारोबार से

- 1980 के बाद सरदार पर बनाए जाने वाले चुटकुलों की संख्या बढ़ी

- 1990 के बाद लालू प्रसाद यादव पर भी खूब चुटकुले बनाए जाने लगे

- 40 हजार चुटकुले रोज प्राप्त होते हैं वेबसाइट लॉफलैब जोक्स को दुनिया भर से

ईसाईयों पर चुटकुले

- ईसाईयों पर केंद्रित चुटकुले और बाइबिल पर केंद्रित चुटकुले जारी करने का भी रिवाज है दुनिया के कई देशों में।

- भारत में अंग्रेजों और बंगालियों पर चुटकुले बनाने का लंबे समय से रिवाज रहा है।

- फिल्मी हस्तियों में सबसे ज्यादा चुटकुले रजनीकांत पर बनाए जाते हैं, हालांकि अमिताभ समेत दूसरे अभिनेताओं पर भी चुटकुले बने हैं।

- अभिनेत्री आलिया भट्ट सबसे ताजा चरित्र हैं चुटकुलों की दुनिया में, उनके समान्य ज्ञान पर काफी चुटकले बने हैं।
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज