महासमुंद जिले में हुई पूर्व उपसरपंच की हत्या के 3 आरोपी गिरफ्तार

महासमुंद जिले में हुई पूर्व उपसरपंच की हत्या के 3 आरोपी गिरफ्तार
पूर्व उपसरपंच की हत्या के आरोपी. फोटो : प्रदेश18/ईटीवी

महासमुंद जिले के कोमाखान क्षेत्र के ग्राम खैरटकला में गत 6 सितंबर को पूर्व उपसरपंच की हत्या के आरोप में क्राइम ब्रांच व बागबाहरा पुलिस की संयुक्त टीम ने तीन आरोपियों को धर दबोचा है.

  • Share this:
महासमुंद जिले के कोमाखान क्षेत्र के ग्राम खैरटकला में गत 6 सितंबर को पूर्व उपसरपंच की हत्या के आरोप में क्राइम ब्रांच व बागबाहरा पुलिस की संयुक्त टीम ने तीन आरोपियों को धर दबोचा है. वहीं मामले में 2 आरोपी अभी भी फरार हैं. हत्या का कारण मृतक द्वारा तेंदूपत्ता के रुपए नक्सलियों को नहीं देना बताया जा रहा है.

इन आरोपियों ने पूर्व में नक्सलियों से मिलकर छत्तसीगढ़ व ओडिशा के बार्डर ग्राम नुआपाड़ा में कई गतिविधियों को अंजाम देने का खुलासा किया है. आरोपियों से खतरनाक हथियारों के साथ-साथ नक्सली पर्चे भी बरामद किए गए हैं.

पुलिस अधीक्षक नेहा चंपावत ने खुलासा करते हुए बताया कि टेका टूहलू चौकी से लगे ग्राम खैरटकलां के पूर्व उपसरपंच खेजनलाल सोनवानी की 6 सितम्बर की रात कुछ लोगों ने गोली चलाकर हत्या कर दी थी. इसके बाद आरोपियों की धरपकड़ के लिए विशेष टीम बनाई गई. संयुक्त टीम ने मृतक खेजनलाल सोनवानी की हत्या के कारण जानने के लिए हर एक पहलू की जांच की.



इसी बीच सूचना मिली कि खेजनलाल सोनवानी पूर्व में तेंदूपत्ता संग्रहण में कार्य कर चुका है. उसने तेंदूपत्ता व्यापारियों से काफी पैसा नक्सलियों को देने के लिए लिया है, लेकिन नक्सलियों को पैसा नहीं दिया है. इस कारण भी हो सकता है उसकी हत्या की गई हो. इस दिशा में जब जांच की गई तो पाया गया कि ग्राम फरफौद (ओडिशा) के परसराम मांझी, ग्राम सिरगिड़ी (ओडिशा) निवासी गुंडा उर्फ बैसाखु तथा तेंदूबाहरा (ओडिशा) निवासी नेमीचंद नाग ने नक्सलियों से मिलकर खेजनलाल सोनवानी की हत्या की है.
सूचना पर टीम ने घेराबंदी करते हुए रविवार को ओडिशा पुलिस के सहयोग से परसराम मांझी, नेमीचंद नाग और बैसाखु उर्फ गुंडा को हिरासत में लेकर पूछताछ की, जिसमें उन्होंने नक्सलियों के साथ मिलकर सोनवानी की हत्या करना कबूल किया. उन्होंने बताया कि तेंदूपत्ता का पैसा नक्सलियों को नहीं देने पर यह हत्या की गई. उन्होंने वारदात में 2 और साथियों के होने की सूचना दी.

पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर उनके पास से चाकू, छुरी, तलवार के साथ ही भाकपा माओवादी के पर्चे भी जब्त किए. पकड़े गए तीनों नक्सली सहयोगी पिछले कई सालों से माओवादियों के साथ थे और कई वारदातों को भी अंजाम दे चुके हैं. फिलहाल मामले के 2 और आरोपियों की तलाश जारी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading