चित्रकूट में डेढ़ लाख के इनामी डकैत गैंग के साथ STF की मुठभेड़, 25 हजार का इनामी डकैत मारा गया

चित्रकूट में एसटीएफ और डकैतों के बीच मुठभेड़ हुई है.

चित्रकूट में एसटीएफ और डकैतों के बीच मुठभेड़ हुई है.

यूपी (UP) के चित्रकूट (Chitrakoot) में डेढ़ लाख के इनामी डकैत गैंग के साथ मुठभेड़ (Encounter) में एसटीएफ ने 25 हजार के एक इनामी डकैत को मार गिराया है. इसकी पहचान भालचंद्र यादव उर्फ भाई चंद्र के रूप में हुई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 31, 2021, 9:14 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. चित्रकूट में डेढ़ लाख के इनामी डकैत गौरी यादव के गिरोह से चित्रकूट पुलिस और एसटीएफ की संयुक्त टीम से पुलिस की मुठभेड़ हो गई, जिसमें 25,000 के इनामी डकैत भालचंद्र यादव को गोली लगने के बाद इलाज के दौरान इनामी डकैत की मौत हो गई है. मामला बहिलपुरवा थाना क्षेत्र के माड़ो बंधा के जंगल के पास का है, जहां पुलिस को सूचना मिली थी कि डेढ़ लाख का इनामी डकैत गौरी यादव और उसके साथी पंचायत चुनाव में दखलअंदाजी करने के लिए रणनीति बना रहे है.

सूचना पर चित्रकूट पुलिस की एसओजी टीम और यूपी एसटीएफ द्वारा संयुक्त टीम बनाकर इनामी डकैतों की घेराबंदी की गई, जिसमें 1 घंटे की चली मुठभेड़ में 25000 के इनामी डकैत भालचंद्र को गोली लग गई, जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया. इलाज के लिए उसे अस्पताल ले जाया गया, जहां पर उसने दम तोड़ दिया. डॉक्टरों ने देखते ही उसे मृत घोषित कर दिया.

मुख्तार अंसारी को लाने के लिए यूपी में नहीं बनी कोई विशेष टीम, जानिए कौन लाएगा?

इनामी मृतक डकैत के पास से 315 बोर की राइफल व कुछ कारतूस बरामद हुए हैं. साथ ही डेढ़ लाख के इनामी गौरी यादव अपने अन्य साथियों के साथ पुलिस को चकमा देकर मौके से भागने में कामयाब रहा. वहीं मृतक इनामी डकैत भाग चंद्र यादव पर चित्रकूट जिले के बहिलपुरवा थाने से एक मामले में वांछित था और हाल ही में कुछ दिन पहले फॉरेस्ट गार्ड को पीटने का आरोप लगा था. इसके बाद चित्रकूट पुलिस इनामी डकैतों पर पंचायती चुनाव को ध्यान में रखते हुए सक्रिय बनी हुई थी. इस पर आज 25000 के नामी डकैत भालचंद को मार गिराने में चित्रकूट पुलिस और एसटीएफ को बड़ी सफलता हासिल हुई है.
वहीं इनामी मृतक डकैत गौरी यादव का रिश्तेदार था और वह मध्य प्रदेश के मझगवां थाना क्षेत्र के पड़वानिया गांव का रहने वाला था. वहीं पुलिस अधीक्षक अंकित मित्तल का कहना है कि यूपी एसटीएफ और चित्रकूट की एसओजी टीम द्वारा इस ऑपरेशन को अंजाम दिया गया है. इनामी डकैत पंचायती चुनाव में दखलअंदाजी करने की रणनीति बना रहे थे, जिस पर डकैतों की घेराबंदी कर 25000 का इनामी डकैत को गोली लग गई है. जिसकी इलाज के दौरान मौत हो गई है. बाकी के सदस्य भागने में कामयाब रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज