लाइव टीवी

5 साल की बच्‍ची के साथ दुष्‍कर्म की कोशिश, विरोध करने पर मासूम की बेरहमी से पिटाई

Suryaa Bajpai | News18 Uttar Pradesh
Updated: December 12, 2019, 5:57 PM IST
5 साल की बच्‍ची के साथ दुष्‍कर्म की कोशिश, विरोध करने पर मासूम की बेरहमी से पिटाई
एएसपी के हस्‍तक्षेप के बाद आरोपी के खिलाफ पुलिस ने कार्रवाई शुरू की.

दरिंदगी की शिकायत करने पहुंचे पीड़िता के परिजनों को करीब साढ़े तीन घंटे तक थाने में बैठाए रखा गया. एएसपी (ASP) के हस्‍तक्षेप के बाद स्‍थानीय थाना पुलिस (Police) ने पीड़िता (Victim) का मेडिकल (Medical) करवाया.

  • Share this:
फर्रुखाबाद (Farrukhabad) : उत्‍तर प्रदेश पुलिस (Uttar Pradesh Police) की तमाम कोशिशों के बावजूद बच्चियों से हैवानियत की वारदातें रुकने का नाम नहीं ले रही हैं. इस बार मामला फर्रुखाबाद (Farrukhabad) से सामने आया है, जहां एक युवक ने पहले 5 साल की मासूम के साथ दुष्‍कर्म का प्रयास (Attempt to rape) किया और विरोध करने पर उसकी बेरहमी से पिटाई की. गनीमत रही कि इसी बीच मौके पर मासूम की बड़ी बहन मौके पर पहुंच गई. मासूम की बड़ी बहन को देखकर आरोपी मौके से फरार हो गया. मासूम के पिता की शिकायत पर पुलिस (Police) ने आरोपी युवक के खिलाफ मामला दर्ज कर उसकी तलाश शुरू कर दी है.

पुलिस सूत्रों के अनुसार, यह मामला फर्रुखाबाद के अंंतर्गत आने वाले एक गांव का है. आरोप है कि 5 वर्षीय मासूम अपने घर के करीब खेल रही थी. इसी दौरान, गांव का एक युवक उसे जबरन अपने साथ पास के एक मकान में ले गया और उसके साथ दुष्‍कर्म का प्रयास करने लगा. आरोपी युवक की इस हैवानियत से दहशत में आई बच्‍ची ने चीख-चीख कर रोना शुरू कर दिया. बच्‍ची को रोता देख आरोपी युवक बुरी तरह से झल्‍ला गया और उसने बच्‍ची की बेरहमी से पिटाई शुरू कर दी. गनीमत रही कि इसी बीच पीड़िता की बड़ी बहन घर के बाहर से गुजर रही थी.

चीख सुनते ही पीड़िता की बड़ी बहन आवाज पहचान गई. उसे समझ में आ गया कि कोई उसकी छोटी बहन के साथ जबरदस्‍ती करने की कोशिश कर रहा है. पीड़िता की बड़ी बहन तत्‍काल कुछ लोगों को इकट्ठा कर घर में पहुंच गई. वहीं, खुद को लोगों की गिरफ्त में आता देख आरोपी मौके से भाग निकला. पीड़िता की आपबीती सुनने के बाद उसके परिजनों ने आरोपी के खिलाफ स्‍थानीय थाने में शिकायत दी है. परिजनों की शिकायत के आधार पर पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर आरोपी युवक की तलाश शुरू कर दी है.

पुलिस की संवेदनहीनता ने बढ़ाई पीड़िता की मुश्किलें

5 साल की बच्‍ची के साथ हैवानियत के इस मामले में फर्रुखाबाद पुलिस का रवैया बेहद संवेदनहीन रहा. पुलिस की संवेदनहीनता का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि इस जघन्‍य वारदात की शिकायत देने के लिए मासूम के परिजनों को घंटों मशक्‍कत करनी पड़ी. आरोप है कि पुलिस कर्मियों ने पीड़िता के परिवार को कई घंटों तक बैठाए रखा. इस दौरान, कई बार कोशिश करने के बावजूद उसकी शिकायत वहां मौजूद पुलिस कर्मियों ने नहीं ली. इसी बीच थाने पर जिले के अपर पुलिस अधीक्षक त्रिभुवन सिंह पहुंच गए. अपर पुलिस अधीक्षक त्रिभुवन सिंह के हस्‍तक्षेप के बाद पुलिस ने पीड़िता को मेडिकल के लिए भेजा गया और शिकायत ली गई.

एएसपी के हस्‍तक्षेप के बाद दर्ज हुई एफआईआर
आरोप है कि दोपहर करीब 12 बजे इस वारदात के बाबत परिजनों को सूचना मिली. जानकारी मिलते ही परिजन अपनी शिकायत दर्ज कराने के लिए स्‍थानीय थाने में पहुंच गए. शाम चार बजे तक थाने में मौजूद पुलिस कर्मियों ने न ही पीड़ित पक्ष की शिकायत ली और न ही आरोपी के खिलाफ कोई कार्रवाई की. शाम करीब साढ़े चार बजे थाना पहुंचे एएसपी त्रिभुवन सिंह ने पीड़िता के परिजनों से थाने आने की वजह पूंछी. मासूम की आपबीती सुनने के बाद एएसपी त्रिभुवन सिंह ने तत्‍काल एफआईआर दर्ज कर पीड़िता का मेडिकल कराने के आदेश दिए. जिसके बाद, स्‍थानीय पुलिस कर्मियों ने कार्रवाई शुरू की.यह भी पढ़ें:
अयोध्या फैसला: निर्मोही अखाड़ा ने SC में दायर की रिव्यू पिटीशन, सुनवाई आज
बागपत: रेप पीड़िता के घर धमकी भरे पोस्टर चिपकाने के मामले में आरोपी गिरफ्तार
बहराइच में इनोवा की बेकाबू फट्रक से टक्कर, 6 बारातियों की मौत, 3 लोग घायल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए फर्रुखाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 12, 2019, 5:50 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर