Home /News /uttar-pradesh /

UP News: कैराना कोतवाली से 578 पेटी शराब गायब, महिला पुलिसकर्मी पर केस दर्ज

UP News: कैराना कोतवाली से 578 पेटी शराब गायब, महिला पुलिसकर्मी पर केस दर्ज

घटना का पता तब चला जब हेड कांस्टेबल का तबादला कर दिया गया और अगले पदाधिकारी को प्रभार सौंपने के दौरान शराब के 578 कार्टन गायब पाए गए. (प्रतीकात्मक)

घटना का पता तब चला जब हेड कांस्टेबल का तबादला कर दिया गया और अगले पदाधिकारी को प्रभार सौंपने के दौरान शराब के 578 कार्टन गायब पाए गए. (प्रतीकात्मक)

क्षेत्राधिकारी प्रदीप सिंह की जांच में तारेश शर्मा को शराब गायब होने का जिम्मेदार पाया गया. यह शराब 12 अलग-अलग मामलों में जब्त की गई थी. घटना का पता तब चला जब हेड कांस्टेबल का तबादला कर दिया गया और अगले पदाधिकारी को प्रभार सौंपने के दौरान शराब के 578 कार्टन गायब पाए गए.

अधिक पढ़ें ...

    शामली. उत्तर प्रदेश के शामली स्थित कैराना कोतवाली (Kairana Kotwali) के गोदाम से शराब के 578 कार्टन गायब होने के मामले में महिला हेड कांस्टेबल के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. अधिकारियों ने शनिवार को बताया कि पुलिस अधीक्षक के आदेश पर हेड कांस्टेबल तारेश शर्मा के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 409 के तहत मामला दर्ज किया गया.

    क्षेत्राधिकारी प्रदीप सिंह की जांच में तारेश शर्मा को शराब गायब होने का जिम्मेदार पाया गया. यह शराब 12 अलग-अलग मामलों में जब्त की गई थी. घटना का पता तब चला जब हेड कांस्टेबल का तबादला कर दिया गया और अगले पदाधिकारी को प्रभार सौंपने के दौरान शराब के 578 कार्टन गायब पाए गए.

    ये भी पढ़ें- यूपी बनेगा हथियार निर्माण का हब, अमेठी में जल्द लगेगी AK-203 राइफल्स की फैक्टरी, सरकार ने दी मंजूरी

    एसपी के आदेश पर कैराना कोतवाली में दर्ज हुए मुकदमे में बताया गया है कि महिला मुख्य आरक्षी तारेश शर्मा जनवरी 2019 से सितंबर 2019 तक कैराना कोतवाली में नियुक्त रहीं. कोतवाली में प्रधान लेखक नियुक्त न होने के कारण उनके पास मालखाने आदि का भी चार्ज था. इस दौरान मुख्य आरक्षी का ट्रांसफर शामली के रिजर्व पुलिस लाइन हो गया था और देवेंद्र कुमार प्रधान लेखक नियुक्त हुए थे. तारेश शर्मा ने प्रधान लेखक देवेंद्र कुमार को चार्ज दिया था. आरोप है कि चार्ज हस्तांतरण के दौरान 12 मुकदमों से संबंधित माल का चार्ज मुख्य आरक्षी तारेश शर्मा ने प्रधान लेखक को नहीं दिया. इसमें 578 से अधिक देसी व अंग्रेजी शराब की पेटियों के अलावा रेक्टीफाइड भी शामिल था.

    रिपोर्ट के मुताबिक, शराब की 578 पेटियां मालखाने में भी मौजूद नहीं है. इसकी जांच शामली के तत्कालीन सीओ सिटी प्रदीप सिंह ने की, जिसमें महिला मुख्य आरक्षी तारेश शर्मा को दोषी पाया गया. यह मामला आइपीसी की धारा 409 (विश्वास का आपराधिक हनन) के तहत दर्ज किया गया है. (भाषा इनपुट के साथ)

    Tags: Kairana, Liquor Mafia, UP police

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर