मलेशिया में फंसे मऊ के 7 मजदूर, अखिलेश यादव ने BJP से मांगी मदद
Mau News in Hindi

मलेशिया में फंसे मऊ के 7 मजदूर, अखिलेश यादव ने BJP से मांगी मदद
अखिलेश यादव ने केंद्र से मदद की मांग की है. (फाइल फोटो)

अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने ट्वीट (Tweet) में लिखा, एक चीनी कंपनी द्वारा मलेशिया में उप्र के कई ज़िलों के श्रमिकों को प्रताड़ित किए जाने की खबर आई है. केंद्र और प्रदेश की भाजपा सरकार सबको सुरक्षित वापस लाए.

  • Share this:
मऊ. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मऊ (Mau) इलाके से सात श्रमिकों के मलेशिया में फंसे होने की जानकारी मिल रही है. वतन वापसी के लिए मजदूरों ने समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय सचिव और प्रवक्ता राजीव राय और सपा बसपा गठबंधन के घोसी लोकसभा सांसद अतुल राय से मदद की गुहार लगाई. इसके बाद राजीव राय ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) सहित विदेश मंत्रालय (Foreign Ministry) को ट्वीट कर फंसे मजदूरों के लिए मदद मांगी है. इस पूरे मामले की जानकारी मिलने पर अखिलेश यादव ने भी मजदूरों के वतन वापसी के लिए भाजपा (BJP) सरकार से मदद की मांग करते हुए ट्वीट किया है.

मामला संज्ञान में आने के बाद अखिलेश यादव अपने ऑफिशियल ट्विटर हैंडल में लिखा, एक चीनी कंपनी द्वारा मलेशिया में उप्र के कई ज़िलों के श्रमिकों को प्रताड़ित किए जाने की खबर आई है. केंद्र और प्रदेश की भाजपा सरकार तत्काल वहां की सरकार व अपने दूतावास से संपर्क कर सबको सुरक्षित वापस लाए. हवाई जहाज से घर वापस आने पर ‘हवाई चप्पलवालों’ का भी अधिकार होना चाहिए. वहीं, घोसी लोकसभा के सांसद अतुल राय के जनप्रतिनिधि गोपल राय ने डीएम को पत्र सौंपने के बाद बताया कि फंसे हुए युवकों की वतन वापस लाने के लिए विदेश मंत्रालय और गृह मंत्रालय से संपर्क किया जा रहा है. सांसद अतुल राय ने आश्वासन दिया गया है कि उनके टिकट आदि की व्यवस्था करा कर भारत लाने की व्यवस्था की जा रही है.

ये भी पढ़ें: मानेसर था 'बागी' विधायकों का ठिकाना, ML खट्टर बोले- हमारा कोई रोल नहीं





'चाइनीज कंपनी में करते हैं काम'

बताते हैं कि मलेशिया में फंसे मऊ के युवक दुर्गेश कुमार, विरेन्द्र कुमार, सुनील सिहं, सुरेश, राधेश्याम, प्रेमचन्द्र शर्मा, दीपक कुमार एक चाइनीज कंपनी में काम करते हैं, लेकिन उन्हें कुछ महीने से वेतन नहीं दिया जा रहा है. मजदूरों का आरोप है कि उन्हें घर वापस भेजने के लिए भी कोई पहल नहीं किया जा रहा है. उनका पासपोर्ट भी जब्त कर लिया गया है. इस समस्या को लेकर युवकों ने वीडियो भेजकर कई जनप्रतिनिधियों से गुहार लगाई है. वीडियो में युवकों ने बताया कि वे मलेशिया में फंसे हुए हैं. इंडियन एम्बेसी में शिकायत किया गया है, लेकिन कहीं पर भी सुनवाई नहीं हो रहा है. कंपनी के मैनेजर ने बोला है कि पीएम, सीएम सहित चाहे जहां शिकायत कर लो, कंपनी छोड़ने वाली नहीं है. वीडियो के माध्यम से ही युवकों ने बताया कि जिले के कई नेताओं से भी गुहार लगाया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading