टीके की बदौलत 90 साल के मशहूर इतिहासकार इरफान हबीब ने हराया कोरोना

एक मई को प्रो. इरफान आरटी पीसीआर टेस्ट में कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे. फाइल फोटो

एक मई को प्रो. इरफान आरटी पीसीआर टेस्ट में कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे. फाइल फोटो

उनके करीबियों की मानें तो अब वो पूरी तरह से फिट हैं और अगले एक-दो दिन में होम क्वारंटीन (Home quarantine) से बाहर आ जाएंगे.

  • Share this:

अलीगढ़. मशहूर इतिहासकार (Historian) और अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (AMU) के प्रोफेसर इरफान हबीब (Irfan Habib) कोरोना संक्रमित हो गए थे. जब स्थानीय डॉक्टरों की टीम ने उनकी आरटी पीसीआर जांच की तो प्रो. इरफान और उनकी पत्नी कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) पाए गए. अच्छी बात यह है कि उनके बेटे की रिपोर्ट निगेटिव आई. इसके बाद प्रो इरफान खुद होम क्वारंटीन हो गए. कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लेने के चलते प्रो. इरफान को न तो बुखार आया और न ही खांसी-जुकाम हुआ. उनके करीबियों की मानें तो अब वो पूरी तरह से फिट हैं और अगले एक-दो दिन में होम क्वारंटीन (Home quarantine) से बाहर आ जाएंगे.

एएमयू में ही टीचर और इतिहासकार और प्रोफेसर इरफान हबीब के करीबी शमीम की मानें तो अप्रैल में इरफान हबीब ने कोरोना वैक्सीन की पहली डोज ले ली थी. दूसरी डोज लेने के लिए 2 मई को मेडिकल कॉलेज जाना था. लेकिन एक मई को आरटी पीसीआर टेस्ट में मालूम हुआ कि वो कोरोना पॉजिटिव हो गए हैं. उनकी पत्नी भी टेस्ट में पॉजिटिव आईं थी. जिसके बाद उन्होंने खुद को होम क्वारंटीन कर लिया था. बेटे की आरटी पीसीआर रिपोर्ट निगेटिव आई थी.

Youtube Video

अच्छी बात यह रही कि टीका लगवाने के चलते पॉजिटिव होने के बाद भी इरफान साहब को न तो बुखार आया और न किसी तरह की कोई खांसी-जुकाम हुआ. लेकिन कुछ कारणों के चलते टीका नहीं लगवाने की वजह से पत्नी को संकमित होने पर बुखार आ गया था. लेकिन अब उनका होम क्वारंटीन का वक्त भी पूरा होने वाला है. हर रोज मेरी उनसे बात होती है. अब मय पत्नी के वो पूरी तरह से ठीक हैं. प्रो. इरफान अलीगढ़ की बदरबाग कालोनी में रहते हैं.
नोएडा में 10 जगहों पर 200 रुपये में मिल रहा है ऑक्सीजन सिलेंडर


सुर्खियों में रहा था केरल के गवर्नर संग हुआ विवाद



दिसम्बर, 2019 में एक कार्यक्रम के दौरान इतिहासकार इरफान हबीब और केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान के बीच विवाद हुआ था. विवाद ज्यादा बढ़ता इससे पहले ही गवर्नर के एडीसी और सिक्योरिटी अफसर ने आगे बढ़कर प्रो. इरफान को रोक लिया था. न्यूज18 हिंदी से हुई बातचीत में प्रो. इरफान ने आरोप लगाते हुए कहा था कि गवर्नर आरिफ मोहम्मद खान मंच पर गांधी जी और मौलाना आजाद का हवाला देकर मुसलमानों के खिलाफ आपत्तिजनक और अनर्गल बातें कर रहे थे. इस पर जब हम उनको रोकने के लिए गए तो उल्टे हमे ही रोका गया. दरअसल केरल के कन्नूर में बीते 20 दिसंबर को आयोजित भारतीय इतिहास कांग्रेस के उद्घाटन भाषण के दौरान यह घटना हुई थी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज