बदायूं: दुश्मनी पालकर बैठे व्यक्ति ने 10 साल के बच्चे को जंगल में फांसी के फंदे पर लटकाया, उसके बाद...

अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती पीड़ित बच्चा.
अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती पीड़ित बच्चा.

जिले के एक गांव में दुश्मनी पालकर बैठे व्यक्ति ने बच्चे (Child) को पेड़ में फांसी के फंदे पर लटक कर फरार हो गया. दूसरे लोगों ने बच्चे को उतारा और अस्पताल (Hospital) में भर्ती कराया, जहां पर उसका इलाज (Treatment) चल रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 22, 2020, 11:14 AM IST
  • Share this:
बदायूं. जिले में कुछ सिरफिरे लोगों ने एक बच्चे को भयानक सजा दी है, जिसके बाद वह अस्पताल (Hospital) में जिंदगी और मौत के बीच जूझ रहा है. इस बच्चे की गलती सिर्फ इतनी थी कि उसने दो छोटे-छोटे बच्चों को लड़ाई ना करने के लिए समझाया था. इसके बाद एक बच्चे के परिजनों ने उसे बबूल के पेड़ में फांसी के फेंदे पर लटका दिया. इससे बच्चे की हालत गंभीर बनी हुई है. बच्चे को इलाज (Treatment) के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां वह जिंदगी और मौत के बीच जंग लड़ रहा है.

बच्चे के घर वालों ने इस पूरे मामले की शिकायत पुलिस से की है. इसके बाद से पुलिस मामले की जांच कर रही है. जानकारी के अनुसार बदायूं के थाना जरीफनगर क्षेत्र के ग्राम जरेठा में महेंद्र के पुत्र वीरपाल से मामूली बात को लेकर खेल-खेल में झगड़ा हो गया. झगड़ा बढ़ने पर महेंद्र के बड़े पुत्र नेतराम ने दोनों लोगों को डांट दिया और झगड़ा शांत करा दिया. उसके बाद लड़ाई शांत हो गई, लेकिन आरोपी पक्ष इन लोगों से दुश्मनी मान ली. नेतराम और वीरपाल बकरियां चराने जंगल में गए तो आरोपी पक्ष ने छोटे बेटे वीरपाल को बबूल के पेड़ से गले में फंदा डालकर लटका दिया.

लखनऊ: फर्जी अध्यापकों से वसूली कर रहा था दूसरे की मार्कशीट पर नौकरी करने वाला टीचर, तीन अरेस्ट



आनन-फानन में ग्रामीणों ने वीरपाल को उतारा, लेकिन तब तक उसकी हालत खराब हो चुकी थी. परिवार वाले उसे अस्पताल लेकर आए हैं, जहां पर उसकी हालत गंभीर बनी हुई है. सांस लेने में आ रही परेशानी के कारण बच्चे को आक्सीजन लगाई गई है. डॉक्टरों का कहना है कि बच्चे की हालत अभी गंभीर बनी हुई है. वहीं पीड़ित परिवार ने आरोरी के खिलाफ थाने में शिकायत दी है, जिसके बाद से पुलिस मामले की जांच में जुट गई है. इस मामले में सिद्धार्थ वर्मा एसपी देहात का कहना है कि मामला संज्ञान में आया है. थानाध्यक्ष जरीफनगर को पूरे प्रकरण की जांच करने के लिए कहा गया है. जांच के बाद एफआईआर दर्ज कर आरोपियों को जेल भेजा जाएगा.
प्रतापगढ़ में जमीनी विवाद पर युवक की गोली मारकर हत्या
प्रतापगढ़ में दबंगों ने लालगंज कोतवाली के खेमसरी गांव में जमीनी विवाद के चलते युवक की गोली मारकर हत्या कर दी. यहां दो परिवारों के बीच पर घूर-गड्ढे को लेकर विवाद शुरू हुआ था. इस विवाद ने इतना तूल पकड़ लिया कि युवक कमलेश सरोज की गोलीमार कर हत्या कर दी गई. मृतक के पिता रामलाल और बहनोई सोमनाथ भी मारपीट में गंभीर रूप से जख्मी हो गए हैं. जिनको आनन-फानन में जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है. युवक कमलेश की हत्या से परिजनों में कोहराम मचा गया है. सूचना पर एएसपी समेत भारी पुलिस बल मौके पर पहुंचकर मामले की जांच कर रहा है. पुलिस ने आरोपी चचेरे भाई के घर दबिश भी दी, लेकिन तब तक सभी आरोपी फरार हो चुक थे. वही गांव में तनाव को देखते हुए भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है. वहीं पुलिस का कहना है कि आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए प्रयास किये जा रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज