8 पुलिस वालों का मर्डर और 50 हजार इनाम, फिर भी विकास दुबे नहीं है मोस्ट वांटेड क्रिमिनल
Kanpur News in Hindi

8 पुलिस वालों का मर्डर और 50 हजार इनाम, फिर भी विकास दुबे नहीं है मोस्ट वांटेड क्रिमिनल
कानपुर की वारदात के बाद भी यूपी की मोस्ट वांटेड क्रिमिनल की लिस्ट में विकास का नाम नहीं है. (Fle Photo)

कानपुर (Kanpur) की वारदात को 40 घंटे से भी ज्यादा बीत जाने के बाद भी यूपी के मोस्ट वांटेड अपराधी की लिस्ट में विकास दुबे का नाम नहीं लिखा गया है.

  • Share this:
नई दिल्ली. कानपुर में 8 पुलिस वालों की हत्या करने के बाद से आरोपी विकास दुबे फरार है. एसटीएफ (STF) समेत यूपी पुलिस (UP Police) की 100 टीम रात-दिन विकास दुबे की सरगर्मी से तलाश कर रही हैं. लेकिन इतना सब होने के बाद भी विकास दुबे को यूपी के मोस्ट वांटेड अपराधी (Most wanted criminal) की लिस्ट में शामिल नहीं किया गया है.

मौजूदा वक्त में लिस्ट में 19 बदमाशों के नाम शामिल हैं. किसी बदमाश पर 25 तो किसी पर 40 केस हैं. इनाम भी 50 हज़ार से लेकर 2 लाख रुपये तक का घोषित है. लेकिन कानपुर (Kanpur) की वारदात को 40 घंटे से भी ज़्यादा बीतने के बाद यूपी के मोस्ट वांटेड अपराधी की लिस्ट में विकास दुबे का नाम नहीं लिखा गया है.





60 केस दर्ज होने के बाद भी घोषित नहीं हुआ मोस्ट वांटेड
थाने के अंदर घुसकर मंत्री की हत्या का आरोप, ज़मीन के विवाद में एक प्रिंसीपल के मर्डर का आरोप. छोटे-बड़े अपराधों के करीब 60 केस. 8 पुलिस वालों की हत्या का ताजा मामला. 3 जुलाई को इनाम 25 हज़ार रुपये से बढ़ाकर 50 हज़ार रुपये कर दिया गया. कई बार जेल जाने के मामले भी दर्ज हैं. बावजूद इसके पुलिस की नज़र इस बात पर नहीं गई कि विकास दुबे को यूपी के मोस्ट वांटेड अपराधी की लिस्ट में शामिल किया जाए. आरोप तो यह भी है कि विकास दुबे एके-47 लेकर घूमता है.

ये भी पढ़ें:- बिजनेसमैन ने बदमाशों को दी कत्ल की सुपारी, और कत्ल वाले दिन भेज दी अपनी ही तस्वीर, जानें क्यों
पूर्व डीजीपी, यूपी पुलिस विक्रम सिंह इस बारे में न्यूज18 हिंदी को बताते हैं, अगर अधिकारी चाह ले तो किसी भी बड़े अपराधी का नाम मोस्ट वांटेड अपराधी की लिस्ट में शामिल करने के लिए एक घंटे से ज़्यादा का वक्त नहीं लगता है. लिस्ट को देखकर ही लगता है कि काफी वक्त से ये अपडेट नहीं हुई है. पुलिस अब मोस्ट वांटेड की लिस्ट पर काम भी नहीं करती है.

policemen murder, Vikas Dubey, most wanted criminal of UP, STF, up police, kanpur, पुलिसकर्मी हत्याकांड, विकास दुबे, मोस्ट वांटेड अपराधी यूपी, एसटीएफ, अप पुलिस, कानपुर
यूपी पुलिस की बेवसाइट पर यह लिस्ट मौजूद है.


लिस्ट में शामिल यूपी के कुछ मोस्ट वांटेड अपराधी
अजित उर्फ हप्पू सिंह
इनाम- 50
निवासी- बागपत
अजित एक शातिर हिस्ट्रीशीटर है. एक साथ दो लोगों की गोलियों से भूनकर हत्या करने के बाद से अजित पुलिस के रडार पर है. अजित पर 20 से ज्यादा मुकदमें दर्ज हैं. मेरठ, बागपत, कैराना और शामली में अजित का आतंक बताया जाता है.

विश्वास नेपाली
इनाम- 50 हजार
निवासी- वाराणसी
कहा जाता है कि पुलिस के डर से आजकल विश्वास नेपाली नेपाल भाग गया है. वहीं से अपने गिरोह को संचालित कर रहा है. विश्वास पर लूट, हत्या, रंगदारी और अपरहण के 30 से अधिक मुकदमें दर्ज हैं.

सलीम उर्फ मुख्तार शेख
इनाम- 50 हजार
निवासी- लखनऊ
सलीम का लखनऊ में खासा आतंक बताया जाता है. सलीम और उसका गिरोह लूट, अपरहण और रंगदारी की वारदातों को अंजाम देता है. सलीम पर एक हत्या का भी आरोप है. कई साल से पुलिस सलीम के पीछे पड़ी हुई है. लेकिन सलीम अभी तक हत्थे नहीं चढ़ा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading