जिलाधिकारी कार्यालय में हत्‍या के आरोपी ने किया खुदकुशी का प्रयास, मचा हड़कंप
Azamgarh News in Hindi

जिलाधिकारी कार्यालय में हत्‍या के आरोपी ने किया खुदकुशी का प्रयास, मचा हड़कंप
हत्‍यारोपी को हिरासत में लेने के बाद पुलिस की टीम पूछताछ कर रही है.

हत्‍या के प्रयास (Attempt to murder) मामले में आरोपी राजीव यादव (Rajeev Yadav) अपनी शिकायत लेकर मंगलवार को जिलाधिकारी (District Magistrate) कार्यायल पहुंचा था. कार्यालय में डीएम के न होने की बात पता चलते के बाद उसने जहरीला पदार्थ निगलने का प्रयास किया था.

  • Share this:
आजमगढ़ (Azamgarh) : जिलाधिकारी कार्यालय में आज उस समय हड़कंप मच गया, जब हत्या के प्रयास (Attempt to murder) के एक आरोपी ने जहर निगलने की कोशिश की. मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने समय रहते आरोपी को पकड़ लिया, जिससे वह जहरीला पदार्थ का सेवन नहीं कर सका. पुलिस पकड़े गये आरोपी (Accused) से पूछताछ कर रही है. वहीं, इस मामले में पुलिस (Police) का कहना है कि युवक शिकायत लेकर कलेक्ट्रेट पहुंचा था. आत्महत्या (Suicide) के प्रयास की बात झूठी है. चूंकि वह हत्या प्रयास में नामजद था, इसलिए पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया है.

यह था मामला
पुलिस के अनुसार, 40 वर्षीय रामनवल तरवा थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले सारायभादी गांव का रहने वाला है. जांच में पता चला है कि रामनवल की गांव के कुछ लोगों से चुनाव को लेकर रंजिश चल रही है. रामनवल गुरुवार की रात बाइक से खरिहानी बाजार से घर लौट रहा था, उसी दौरान बाइक सवार लोगों ने उसकी गोली मारकर हत्या करने का प्रयास किया था. वारदात में गोली रामनवल के पैर में लगी थी. जिसके बाद, उसे उपचार के लिए एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था. इस मामले में घायल के भाई रामाश्रय ने आरोपी राजीव यादव सहित तीन लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करायी थी.

पुलिस पर लगाए गंभीर आरोप
पुलिस के अनुसार, इस मामले में नामजद राजीव यादव मंगलवार की पूर्वांह्न दवा की शीशी में जहरीला पदार्थ लेकर कलेक्ट्रेट पहुंचा. पहले उसने जिलाधिकारी से मिलने का प्रयास किया, लेकिन जब पता चला के डीएम नहीं है तो उसने कलेक्ट्रेट के बाहर सड़क पर आकर जहर निगलने का प्रयास किया. गनीमत रही कि वहां मौजूद लोगों की नजर युवक पर पड़ गई. उन्होंने उसे पकड़ने की कोशिश की. छीना-झपटी में शीशी नीचे गिर गयी. उसी दौरान सिविल लाइन चौकी की पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया. इसके बाद उसे कोतवाली ले जाया गया. युवक के मुताबिक वह एक मामले में गवाह है. वह गवाही न कर सके, इसलिए विरोधियों ने पुलिस के साथ साजिश कर उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया.



खुदकुशी के प्रयास को पुलिस ने बताया झूठ
वहीं, इस मामले में अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण नागेंद्र प्रताप सिंह का कहना है कि युवक शिकायत लेकर कलेक्ट्रेट पहुंचा था. आत्महत्या के प्रयास की बात झूठी है. चूंकि वह हत्या प्रयास में नामजद था, इसलिए पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया है.

यह भी पढ़ें: 

अब टेंट नहीं, बुलेटप्रूफ मंदिर में विराजेंगे रामलला, नवरात्र के पहले दिन होगी स्थापना
योगी कैबिनेट का फैसला: कोरोना पीड़ितों का मुफ्त इलाज, स्कूल-कॉलेज 2 अप्रैल तक बंद, धरना प्रदर्शन पर रोक
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज