Home /News /uttar-pradesh /

after gyanvapi mosque issue now petition in mathura civil court to seal sahi eidgah masjid

मथुरा की शाही ईदगाह को सील करने की याचिका कोर्ट ने की स्वीकार, 1 जुलाई को होगी सुनवाई

मथुरा में शाही ईदगाह और श्रीकृष्ण जन्मभूमि को लेकर लंबे अर्से से विवाद चल रहा है  (फाइल फोटो)

मथुरा में शाही ईदगाह और श्रीकृष्ण जन्मभूमि को लेकर लंबे अर्से से विवाद चल रहा है (फाइल फोटो)

महेंद्र प्रताप ने अपनी इस मांग के पीछे वजह बताई है कि असली कृष्ण जन्मभूमि के जो अवशेष हैं, अगर उनसे छेड़छाड़ हो गई तो संपत्ति का चरित्र बदल जाएगा और केस का कोई आधार नहीं रह जाएगा.' उनकी इस याचिका पर सिविल जज सीनियर डिवीजन की कोर्ट सुनवाई करेगी.

अधिक पढ़ें ...

मथुरा. उत्तर प्रदेश के वाराणसी स्थित बहुचर्चित ज्ञानवापी मस्जिद को लेकर जारी विवाद के बीच अब मथुरा में श्रीकृष्ण जन्मस्थली के पास स्थित प्रसिद्ध शाही ईदगाह मस्जिद को सील करने की याचिका सिविल कोर्ट ने स्वीकार कर ली है. कोर्ट ने इस मामले की सुनवाई के लिए 1 जुलाई की तारीख तय की है. बता दें कि मथुरा में कुल 13.37 एकड़ जमीन के मालिकाना हक को लेकर सिविल कोर्ट में पहले से एक मामले पर सुनवाई चल रही है. इस जमीन में से 11 एकड़ भूमि मंदिर के पास है और बाकी ईदगाह के पास.

दरअसल मथुरा सिविल जज सीनियर डिवीजन की कोर्ट में अधिवक्ता महेंद्र प्रताप सिंह ने प्रार्थना पत्र लगाया था, जिसमें उन्होंने शाही ईदगाह को सील कर वहां सुरक्षा बढ़ाए जाने, वहां आने-जाने पर रोक और सुरक्षा अधिकारी को नियुक्त करने की मांग की गई है.

महेंद्र प्रताप सिंह ने अपने इस प्रार्थना पत्र में ज्ञानवापी मस्जिद विवाद का जिक्र करते हुए कहा, ‘ज्ञानवापी मस्जिद, वाराणसी में जिस प्रकार से हिंदू शिवलिंग के अवशेष मिले हैं उससे स्थिति स्पष्ट हो गई है कि प्रतिवादीगण वहां इसी कारण शुरू से विरोध करते हैं.’

ये भी पढ़ें- ज्ञानवापी विवाद पर हिन्दू पक्ष के वकील विष्णु जैन बोले- शिवलिंग और फव्वारे के बीच फर्क हम जानते हैं

उन्होंने कहा कि ‘यह स्थिति श्रीकृष्ण जन्मभूमि संपत्ति की है, जो असली गर्भगृह है, वहां पर सभी हिंदू धार्मिक अवशेष कमल शेषनाग, ऊं, स्वास्तिक आदि हिंदू धार्मिक चिह्न व अवशेष हैं. इसमें से कुछ को मिटा दिया गया है और कुछ को प्रतिवादीगण मिटाने के प्रयास में हैं. इस स्थिति में अगर हिंदू अवेशेषों को मिटा दिया गया तो कैरेक्टर ऑफ प्रॉपर्टी बदल जाएगा और वाद का उद्देश्य समाप्त जाएगा.’

महेंद्र सिंह ने इसके ही कहा, ‘माननीय न्यायालय से अनुरोध है कि वहां सभी का आना-जाना प्रतिबंधित कर उस परिसर की उचित सुरक्षा के लिए प्रबंध किए जाएं या परिसर को सील कर दिया जाए.’

बता दें कि मथुरा में शाही ईदगाह और श्रीकृष्ण जन्मभूमि को लेकर लंबे अर्से से विवाद चल रहा है और इस मामले पर वहां सिविल कोर्ट में सुनवाई चल रही है.

Tags: Gyanvapi Mosque, Mathura news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर