लाइव टीवी

आगरा नगर निगम के इस अफसर के खिलाफ दो राज्य मंत्रियों ने खोला मोर्चा, वित्त मंत्री को भेजा पत्र

Himanshu Tripathi | News18 Uttar Pradesh
Updated: November 20, 2019, 12:01 PM IST
आगरा नगर निगम के इस अफसर के खिलाफ दो राज्य मंत्रियों ने खोला मोर्चा, वित्त मंत्री को भेजा पत्र
आगरा नगर निगम में भ्रष्टाचार के खिलाफ योगी सरकार में दो राज्य मंत्रियों ने वित्त मंत्री को पत्र भेजा है.

राज्य मंत्रियों ने अपने पत्र में वित्त एवं लेखाधिकारी पवन कुमार पर कमीशनखोरी (kickbacks) और भ्रष्टाचार (Corruption) के आरोप लगाए हैं. दोनों मंत्रियों ने अपने पत्र में भ्रष्टाचार के आरोपी पवन कुमार के तत्काल ट्रांसफर करके विभागीय जांच की मांग नगर विकास मंत्री से की है.

  • Share this:
आगरा. उत्तर प्रदेश सरकार (UP Government) के दो राज्य मंत्रियों (State Minister) ने आगरा नगर निगम (Agra Municipal Corporation) में फैले भ्रष्टाचार (Corruption) के मामले में प्रदेश सरकार को पत्र लिखा है. प्रदेश सरकार के राज्य मंत्री चौधरी उदयभान सिंह (Choudhary Udai bhan Singh) और डॉ. जीएस धर्मेश (Dr GS Dharmesh) ने वित्त मंत्री (Finance Mninster, Uttar Pradesh) सुरेश खन्ना को पत्र लिखकर नगर निगम के वित्त एवं लेखाधिकारी पवन कुमार पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाते हुए कार्रवाई की मांग की है. लेटर में वित्त एवं लेखाधिकारी पवन कुमार पर कमीशनखोरी और भ्रष्टाचार के आरोप लगाए हैं. दोनों मंत्रियों ने अपने पत्र में भ्रष्टाचार के आरोपी पवन कुमार के तत्काल ट्रांसफर करके विभागीय जांच की मांग नगर विकास मंत्री से की है.

आगरा का नगर निगम दफ्तर लंबे समय से सवालों के घेरे में है. आम आदमी तो दूर खास लोगों के कार्य भी आसानी से नहीं हो पाते. भ्रष्टाचार इतना बढ़ गया कि नगर निगम के ठेकेदारों ने ही इस मसले को चर्चा में ला दिया. नगर निगम के वित्त एवं लेखाधिकारी पवन कुमार पर भुगतान को लेकर गंभीर आरोप ठेकेदारों ने लगाए थे. ठेकेदारों का आरोप था कि बगैर कमीशन वित्त एवं लेखाधिकारी पवन कुमार कार्य नहीं करते. कई बार नगर आयुक्त से कार्रवाई की मांग करने के बाद नगर निगम के ठेकेदारों ने पूरे मामले की शिकायत प्रदेश सरकार के मंत्री डॉ. जीएस धर्मेश और चौधरी उदयभान सिंह से की.

तत्काल ट्रांसफर करने की मांग

पूरे मामले की अपने स्तर से जानकारी लेने के बाद प्रदेश सरकार के दोनों मंत्रियों ने नगर विकास मंत्री को चिट्ठी लिखी. मंत्रियों की चिट्ठी में नगर निगम के वित्त एवं लेखाधिकारी का तत्काल ट्रांसफर करने की मांग की गयी. दोनों मंत्रियों ने आरोपी वित्त एवं लेखाधिकारी पवन कुमार की विभागीय जांच कराने की भी मांग नगर विकास मंत्री से की. दोनों मंत्रियों के लेटर बम से नगर निगम के कार्यालय में हड़कम्प मच गया है. अपनी कार्यशैली के कारण नगर निगम में छोटे-छोटे कार्यों के लिए भी आम लोगों को चक्कर लगाने पड़ते हैं. शिकायतों को नजर अंदाज कर दिया जाता है. लेकिन अब नगर निगम में बड़े स्तर के भ्रष्टाचार का गंभीर आरोप उन दो मंत्रियों ने लगाया है जिनका ताल्लुक आगरा से है.

Agra1
राज्यमंत्री उदयभान सिंह का पत्र


27 प्रतिशत कमीशन के बगैर नगर निगम में कोई काम नहीं

प्रदेश सरकार की जीरो टोलरेंस नीति के तहत मंत्री उदयभान सिंह और जीएस धर्मेश की पहल के बाद उम्मीद है नगर निगम के भ्रष्टाचार पर अंकुश लग सकेगा. पूर्व में विधायक ने लगाए थे आरोप पूर्व में आगरा उत्तर विधानसभा के विधायक जगन प्रसाद गर्ग ने एक पत्र सार्वजनिक करते हुए नगर निगम पर गंभीर आरोप लगाये थे. जगन गर्ग ने सरकार को लिखी चिट्ठी में इस बात का जिक्र किया था कि नगर निगम में 27 प्रतिशत कमीशन के बगैर कोई काम नहीं हो पाता है.
Loading...

बाद में विधायक जगन गर्ग के निधन के बाद मामला ठंडे बस्ते में चला गया था. लेकिन अब आगरा से जुड़े दो मंत्रियों ने नगर निगम के भ्रष्टाचार पर पत्र लिखकर एक बार फिर नगर निगम की कार्यशैली को कठघरे में खड़ा कर दिया है.



ये भी पढ़ें:

बलिया में पराली जलाने पर 7 किसानों पर 28 हजार रुपये का जुर्माना

किसान प्रदर्शन का नया वीडियो आया सामने, यूपी सरकार ने प्रियंका पर साधा निशाना

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए आगरा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 20, 2019, 11:50 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...