नौकरी से निकाले जाने पर मोबाइल टावर पर चढ़ा शख्स, 8 घंटे तक चला हाई वोल्टेज ड्रामा

नौकरी से निकाले जाने पर पहले भी कई बार प्रदर्शन हो चुका है. लेकिन न तो सैलरी मिली और न ही कोई हल नहीं निकला. इसलिए सुभाष अपनी मांगों को मंगवाने के लिए टावर पर चढ़ गया.

News18 Uttar Pradesh
Updated: July 23, 2019, 10:39 PM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: July 23, 2019, 10:39 PM IST
आगरा के कलेक्ट्रेट परिसर में पूरे दिन हाई वोल्टेज ड्रामा होता रहा. दरअसल कलेक्ट्रेट परिसर में लगे मोबाइल टावर पर एक शख्स चढ़ गया. उसके बाद जमकर ड्रामा हुआ. मंगलवार की सुबह आठ बजे कलक्‍ट्रेट में लगे मोबाइल कंपनी के टावर पर चढ़ा युवक आठ घंटे बाद तब नीचे उतरा, जब अधिकारियों ने उसकी शर्तें मान लीं. आठ घंटों के दौरान प्रशासन ने एहतियात के तौर पर टावर के नीचे गद्दे बिछा दिए थे, ताकि कोई अनहोनी घटने पर युवक की जान बचाई जा सके.

दरअसल मेंटल हॉस्पिटल में आउटसोर्सिंग के जरिए अटेंडेंट पद कर कुछ लोग रखे गए थे. किन्हीं कारणों की वजह से सभी कर्मचारी बाहर निकाल दिए गए थे. नौकरी जाने और रुपये न मिलने की वजह से पूर्व कर्मचारी बोदला निवासी सुभाष मोबाइल टावर पर चढ़ गया. घटना की जानकारी मिलते ही कलेक्ट्रेट पर लोगों की भीड़ जमा हो गई. प्रशासनिक अधिकारी भी मौक पर पहुंच गए.

मोबाइल टावर से उतरता शख्स


सिटी मजिस्ट्रेट, एसपी समेत कई अधिकारी मौके पर पहुंचे

घटना का जानकारी मिलते ही मेंटल हॉस्पिटल के अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए और उन्‍होंने सुभाष से मोबाइल फोन के जरिए बात की. सुभाष ने कहा कि जबतक उसकी मांगें पूरी नहीं होगीं वो टॉवर से नीचे नहीं उतरेगा. सुभाष अपनी जिद पर अड़ा रहा. सिटी मजिस्ट्रेट प्रभाकांत अवस्‍थी और एसपी सिटी प्रशांत कुमार फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गए. पुलिस ने जाल और गद्दों की व्‍यवस्‍था कर रखी थी.

पहले भी कई बार हो चुका है प्रदर्शन
नौकरी से निकाले जाने पर पहले भी कई बार प्रदर्शन हो चुका है. लेकिन न तो सैलरी मिली और न ही कोई हल नहीं निकला. इसलिए सुभाष अपनी मांगों को मंगवाने के लिए टावर पर चढ़ गया. करीब आठ घंटे तक ये हाई वोल्टेज ड्रामा चला. उसके बाद सुभाष की मांगें मान लीं गईं. उसके बाद सुभाष उतर आया.
Loading...

सुभाष ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि उसे और उसके साथियों को पिछले साल दिसम्बर महीने का वेतन नहीं दिया गया. मेंटल हॉस्पिटल में महाभ्रष्टाचार फैला हुआ है. हम लोगों ने वेतन न मिलने पर धरना प्रदर्शन किया. इसी बात को लेकर हम लोगों को टारगेट करके निकाल दिया गया. अब हमें कल से फिर नौकरी पर आने को कहा गया है.

ये भी पढ़ें--

कर्नाटक: इकलौते बसपा MLA ने भी नहीं सुनी मायावती की बात, पार्टी से निकाला

जानिए कौन है यह बच्चा, जिसके साथ संसद में खेल रहे हैं पीएम नरेंद्र मोदी

सोनभद्र: चुपके से उम्भा गांव पहुंचे भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर, पीड़ितों के लिए मांगी सुरक्षा
First published: July 23, 2019, 10:20 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...