आगरा: बिना मिट्टी के पानी में सब्जियों की खेती कर रहा ये इंजीनियर, खूब हो रही वाहवाही

अरुण अग्रवाल ने पानी में सब्जियों की खेती शुरू की है
अरुण अग्रवाल ने पानी में सब्जियों की खेती शुरू की है

Agra News: आगरा के नामनेर निवासी अरुण अग्रवाल ने पानी में सब्जियों की खेती शुरू कर दी. आज पाइप में पानी के निरंतर प्रवाह के बीच उनकी बगिया में टमाटर, भिंडी, करेला, धनिया, ग्वारफली सहित तमाम सब्जियां लगी हैं. करेले और भिंडी तो पौधे में लगने भी लगी है.

  • Share this:
आगरा. ताजनगरी आगरा (Agra) में  बिना मिट्टी के पानी में खेती की शानदार शुरुआत कोरोना काल (COVID-19) में हुई है.  पानी में नियंत्रित जलवायु में बिना मिट्टी के पौधे उगाने की तकनीक को हाइड्रोपोनिक्स (Hydroponic) कहते हैं. यह तकनीक इजराइल में खूब अपनायी जाती है. कोरोना काल में जब लॉकडाउन हुआ तो आगरा के नामनेर निवासी अरुण अग्रवाल ने पानी में सब्जियों की खेती शुरू कर दी. आज पाइप में पानी के निरंतर प्रवाह के बीच उनकी बगिया में टमाटर, भिंडी, करेला, धनिया, ग्वारफली सहित तमाम सब्जियां लगी हैं. करेले और भिंडी तो पौधे में लगने भी लगी है.

अरुण अग्रवाल पेशे से इंजीनियर है, लेकिन कोरोना काल में जब लॉकडाउन हुआ तो घर बैठे-बैठे उनके दिमाग में पानी में खेती का आइडिया आया. कुछ ही दिनों की मेहनत का फल अब सामने आने लगा है. अग्रवाल ने जो तकनीक अपनायाी है उससे पौधे में सब्जियां भी लगने लगी हैं. अब आगरा में दूर-दूर से लोग पाइप में बिना मिट्टी के सब्जियों की खेती देखने आते हैं. बिना मिट्टी सिर्फ पानी में सब्जियों की खेती का जायजा लिया हमारे संवाददाता हिमांशु त्रिपाठी ने। न्यूज 18 आगरा

क्या है हाईड्रोपोनिक्स?



जल संवर्धन या हाइड्रोपोनिक्स एक ऐसी तकनीक है, जिसमें फसलों को बिना खेत में लगाए केवल पानी और पोषक तत्वों से उगाया जाता है. इसे 'जलीय कृषि' भी कहते हैं. पौधे उगाने की यह तकनीक पर्यावरण के लिए काफी सही होती है. इन पौधों के लिए कम पानी की जरूरत होती है, जिससे पानी की बचत होती है. हाइड्रोपोनिक्स तकनीक से सब्ज़ियां उगाई जा सकती हैं. इसकी मदद से आराम से घर में किचन गार्डन बनाया जा सकता है और इसमें सिर्फ सूरज की रोशनी की ज़रूरत पड़ती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज