आगरा: मंदिर में नमाज के विरोध में मजार में हनुमान चालीसा पढ़ने वाला अजय तोमर गिरफ्तार

आगरा की माजर में पढ़ी गई हनुमान चालीसा
आगरा की माजर में पढ़ी गई हनुमान चालीसा

Agra News: मजार में हनुमान चालीसा पढ़ने और उसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल करने के मामले में पुलिस (Police) ने कार्रवाई की है. मजार में हनुमान चालीसा पढ़ने वाले अजय तोमर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 4, 2020, 12:37 PM IST
  • Share this:
आगरा. मथुरा (Mathura) के नंद बाबा मंदिर में दिल्ली के फैसल खान (Faisal Khan) और चांद के नमाज (Namaz) पढ़ने का मामला थमता नजर नहीं आ रहा है. मंदिर में नमाज पढ़ने के विरोध में अब हिंदूवादी संगठन ईदगाह, मस्जिद और मजार पर हनुमान चालीसा (Hanuman Chalisa) का पाठ करते वीडियो वायरल कर रहे हैं. इसी क्रम में आगरा (Agra) के मजार में हनुमान चालीसा पढ़ने और उसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल करने के मामले में पुलिस (Police) ने कार्रवाई की है. मजार में हनुमान चालीसा पढ़ने वाले अजय तोमर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया.

मजार को भगवा रंग में रंगने के दो आरोपी भी अरेस्ट

इसके अलावा दो मजारों को भगवा रंग में रंगने की कोशिश के खिलाफ भी पुलिस ने कार्रवाई की है. इस मामले में भी पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है. दरअसल, अगर कॉलेज के सामने एमजी रोड स्थित मजार को सोमवार की रात खुराफातियों ने भगवा रंग में रंग दिया था. इसके बाद मंगलवार को शमसाबाद क्षेत्र में आगरा रोड पर स्थित मजार के अंदर हनुमान चालीसा का पाठ कर वीडियो वायरल कर दिया गया था.



योगी यूथ ब्रिगेड से जुड़ा है अजय तोमर
न्यूज18 पर खबर को प्रमुखता से दिखाए जाने के बाद हरकत में आई पुलिस ने हनुमान चालीसा का पाठ करने वाले योगी यूथ ब्रिगेड के प्रदेश अध्यक्ष बताया जा रहा है. अजय तोमर के एक के बाद एक कई वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हुए हैं, जिनमें वह हनुमान चालीसा पढ़ते हुए दिखाई दे रहे हैं.



बागपत की मस्जिद में भी पढ़ी गई हनुमान चालीसा
इससे पहले बीजेपी नेता ने बागपत के एक मस्जिद में हनुमान चालीसा का पाठ किया. इतना ही नहीं इस वीडियो को लाइव सोशल मीडिया पर भी दिखाया गया. मंदिर में नमाज पढ़ने के विरोध में बीजेपी नेता मनुपाल बंसल ने विनयपुर गांव की एक मस्जिद में हनुमान चालीसा पढ़ी. मामले में पुलिस ने कहा कि मनुपाल बंसल ने हनुमान चालीसा पढ़ने से पहले मस्जिद के मौलाना से अनुमति ली थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज