Home /News /uttar-pradesh /

Agra News:-इस गुरुद्वारे में औरंगजेब के शासनकाल में 9 दिन तक कैद रहे थे गुरु तेग बहादुर सिंह

Agra News:-इस गुरुद्वारे में औरंगजेब के शासनकाल में 9 दिन तक कैद रहे थे गुरु तेग बहादुर सिंह

दुल्हन

दुल्हन की तरह सजाया गया गुरुद्वारा

इस गुरुद्वारे का इतिहास बेहद पुराना है कई धर्मगुरु यहां पर रुके थे.लेकिन सबसे खास ये है कि यहां पर सिख धर्म के नौवें गुरु तेग बहादुर सिंह के 9 दिनों तक कैद में रहे थे.बात 1675 की है जब देश में औरंगजेब का शासन काल था.

    देश भर में बड़ी धूमधाम से 552 वां प्रकाश पर्व मनाया गया.आगरा के गुरुद्वारे को दुल्हन की तरह सजाया गया है. प्रकाश पर्व की तैयारी 1 महीने पहले से ही शुरू हो जाती हैं.आगरा का दुख निवारण गुरद्वारा लेजर व एलईडी लाइटों से जगमगा रहा है.हजारों की तादाद में श्रद्धालु आगरा के के इस गुरुद्वारे में माथा टेक मन्नत मांगते हैं.सिख धर्म के पहले गुरु संत गुरु नानक देव के जन्मदिन के उपलक्ष में प्रकाश पर मनाया जाता है.लेकिन आप को जान कर हैरानी होगी कि इस गुरुद्वारे में औरंगजेब के शासनकाल में 9 दिन तक कैद रहे थे गुरु तेग बहादुर सिंह.

    इस गुरुद्वारे में औरंगजेब के शासनकाल में 9 दिन तक कैद रहे थे गुरु तेग बहादुर सिंह
    वैसे तो इस गुरुद्वारे का इतिहास बेहद पुराना है कई धर्मगुरु यहां पर रुके थे.लेकिन सबसे खास ये है कि यहां पर सिख धर्म के नौवें गुरु तेग बहादुर सिंह के 9 दिनों तक कैद में रहे थे.बात 1675 की है जब देश में औरंगजेब का शासन काल था.उस वक्त औरंगजेब जब अपना कहर हिंदुओं पर बरपा रहा था.तो उस दौरान गुरु तेग बहादुर सिंह आगरा पहुंचे थे और उन्होंने यही अपनी गिरफ्तारी दी थी.आगरा के इसी गुरुद्वारे में गुरु तेगबहादुर जी को 9 दिनों के लिए बंदी बनाकर रखा गया. उसके बाद में उन्हें दिल्ली की चांदनी चौक ले जाया गया. जहां उन्होंने अपने प्राणों की आहुति दी.लेकिन मुस्लिम धर्म नही स्वीकार किया.

    24 घंटे चलता है इस गुरुद्वारे में लंगर ,जलती है अखंड ज्योति
    सिकंदरा स्थित गुरु का ताल गुरुद्वारे में 24 घंटों लंगर चलता है. इसके साथ कई सालों से यहां पर अखंड ज्योति जल रही है.यहां बिना रुके गुरु ग्रंथ साहिब,गुरबाणी का पाठ किया जाता है.गौरवशाली इतिहास को अपने आप मे समेटे हुए ये गुरुद्वारा अपने आप में बेहद खास है आज भी गुरुद्वारे के एक खास जगह पर उस जमाने के हथियार को तीर तलवार रखे हुए हैं.लोगों में इस गुरुद्वारे के प्रति खास श्रद्धा है हर रोज सैकड़ों की तादात में लोग इस गुरुद्वारे की चौखट पर माथा टेकते हैं और अपनी मनोकामना मांगते हैं .

    (हरीकान्त शर्मा की रिपोर्ट)

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर