Assembly Banner 2021

आगरा: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्ष वर्धन ने किया कोविड डायग्नोसिस फैसिलिटी लैब का उद्घाटन 

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने आगरा  कोविड डायग्नोसिस फैसिलिटी लैब का उद्घाटन

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने आगरा कोविड डायग्नोसिस फैसिलिटी लैब का उद्घाटन

Agra News: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने जालमा में आयोजित कार्यक्रम में कहा कि लॉकडाउन में कोरोना से निपटने के लिए केंद्र सरकार ने बेहतर संसाधन तैयार किए.

  • Share this:
आगरा. भारत सरकार के केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन (Dr Harsh Vardhan) ने आगरा (Agra) के जालमा संस्थान (Jalma Institute) के देसिकन भवन और कोविड डायग्नोसिस फैसिलिटी लैब (Covid Diagnosis Facility Lab) का उद्घाटन किया. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने जालमा में आयोजित कार्यक्रम में कहा कि लॉकडाउन में कोरोना से निपटने के लिए केंद्र सरकार ने बेहतर संसाधन तैयार किए. शुरू में कोरोना की जांच के लिए पुणे में ही एकमात्र लैब थी लेकिन अब 2,400 से अधिक लैब हैं. रोजाना 13 लाख नमूनों की जांच की क्षमता है.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कहा कि आगरा का जालमा देश का प्रतिष्ठित संस्थान है. लेप्रोसी के खिलाफ और टीबी रोग के खिलाफ यहां का कार्य शानदार है. उन्होंने कहा कि आईसीएमआर देश की हर विपदा में अहम भूमिका निभाता है. 1 साल से कोविड 19  के खिलाफ जो जंग चल रही है उसमें भी आईसीएमआर की भूमिका सराहनीय है. हर्षवर्धन ने कहा कि पहले 1000 पर 15 लेप्रोसी मरीज होते थे लेकिन अब भारत ने शानदार काम किया है और 10,000 पर एक से भी कम लेप्रोसी के मरीज हैं. देश के 600 जिलों में यह सफलता अर्जित की गई है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने कहा कि भारत को पोलियो मुक्त किया गया. इस अभियान में भी तमाम लोगों ने दुष्प्रचार किया लेकिन अंततः सत्य की जीत हुई. 2011 में हावड़ा में पोलियो का आखरी केस मिला था.

2025 तक टीबी मुक्त भारत का लक्ष्य 
स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि पीएम मोदी के नेतृत्व में 2025 तक टीबी को हटाने का लक्ष्य है.  टीबी रोग के मरीजों के इलाज का पूरा खर्च भारत सरकार देती है. न्यूट्रिशन के लिए मरीज के अकाउंट में सहायता राशि भी पहुंच जाती है. कोरोना के बारे में चर्चा करते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि 1 करोड़ 11 लाख कोरोना मरीजों में 1 करोड़ 8 लाख ठीक हो चुके हैं. दुनिया में सबसे ज्यादा रिकवरी रेट भारत का है. शुरुआती समय की याद करते हुए स्वस्थ्य मंत्री ने  कहा कि पहले सिर्फ एक प्रयोगशाला पुणे में थी. अब आए हैं 22 करोड़ से ज्यादा टेस्ट  हो चुके हैं. आज  97% भारत में हर 3 किलोमीटर पर कोरोना की जांच की सुविधा उपलब्ध है.
60 देशों को भारत दे रहा वैक्सीन


आगरा पहुंचे केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने कहा कि भारत से कोरोना वैक्सीन कि दुनिया भर में डिमांड है. भारत 60 से ज्यादा देशों को वैक्सीन दे रहा है. कोरोना वैक्सीन को लेकर जिस तरह से सियासी दुष्प्रचार किया गया उसे जनता ने पूरी तरह नकार दिया है. जीत आखिर सत्य की हुई है और आज पूरा देश कोरोना वैक्सीन पर भरोसा कर रहा है. इस विषय पर जिन लोगों ने राजनीति करने की कोशिश की थी उन्हें नाकामी हासिल हुई है. सारे भारत ने मिलकर काम किया है और एनजीओ की भूमिका भी सराहनीय रही है. डॉ हर्षवर्धन ने कहा कि जब सारी दुनिया में तबाही आई थी तब पीएम मोदी ने आत्मनिर्भर की बात की. आज देश में बड़ी संख्या में लोग उत्साह के साथ कोरोना की वैक्सीन लगवा रहे हैं और उम्मीद की जाती है कि 2021 तक कोरोना पर भारत विजय प्राप्त कर लेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज