Home /News /uttar-pradesh /

agra people to get relief from water crisis as 150 lake will be ready in next 3 months

आगरा में लोगों को पानी की समस्या से मिलेगी निजात, तीन महीने में बनकर तैयार हो जाएंगे 150 तालाब 

आगरा में 150 तालाब बनाए जा रहे हैं. (प्रतीकात्मक)

आगरा में 150 तालाब बनाए जा रहे हैं. (प्रतीकात्मक)

योगी आदित्यानाथ सरकार की अमृत सरोवर योजना के तहत प्रदेश के प्रत्येक जिले में 75 तालाबों का निर्माण किया जाना है. इसके अलावा तालाबों की डिसिल्टिंग और सौंदर्यीकरण भी होना है. आगरा एक बड़ा जिला है और यहां पानी की किल्लत सबसे ज्यादा है. इस लिहाज से आगरा में 150 तालाब बनाए जा रहे हैं. इससे आगरा के बाशिंदों को हो रही पानी की किल्लत से निजात मिलेगी.

अधिक पढ़ें ...

आगरा. उत्तर प्रदेश के आगरा में लगातार भीषण गर्मी का प्रकोप जोरों पर है. पारा 45 डिग्री पर जा चुका है. ऐसे के ज्यादातर तालाब डेड लेवल तक पहुंच गए हैं. इन तालाबों को सुधारने के लिए आगरा में सबसे पहले 150 तालाबों को निर्माण किया जाएगा. हर ब्लॉक में 10 तालाब बनाए जाएंगे. इसी के साथ ही जिन तालाबों के पास लैंड होगी तो उन्हें विकसित किया जाएगा. लोगों के बैठने के लिए बेंच, वृक्षरोपण और टहलने के लिए वॉकिंग ट्रैक भी बनाया जाएगा. इस पूरी योजना के लिए रोडमैप तैयार किया जा चुका है. अगले 10 दिनों के अंदर काम शुरू किया जाएगा.

पानी की किल्लत से मिलेगी निजात
आपको बता दें कि आगरा का तापमान 45 डिग्री सेल्सियस से अधिक पहुंच चुका है. पानी की किल्लत आम जनमानस की परेशानियां कई गुना बढ़ा रही है. इस जल त्रासदी से निपटने के लिए सरकार की अमृत सरोवर योजना के तहत प्रदेश के प्रत्येक जिले में 75 तालाबों का निर्माण किया जाना है. इसके अलावा तालाबों की डिसिल्टिंग और सौंदर्यीकरण भी होना है. आगरा एक बड़ा जिला है और यहां पानी की किल्लत सबसे ज्यादा है. इस लिहाज से आगरा में 150 तालाब बनाए जा रहे हैं. इससे आगरा के बाशिंदों को हो रही पानी की किल्लत से निजात मिलेगी.

तीन महीने में होगा पूरा काम
मुख्य विकास अधिकारी (सीडीओ) ए. मनिकनंदन ने बताया कि तीन महीने में तालाबों का बनाने का काम पूरा कर लिया जाएगा. तैयारियां इस लिहाज से कराई जा रही हैं कि आगामी 15 अगस्त को तालाब का उद्घाटन किसी स्वतंत्रता सैनानी से कराया जाए. आगरा में टोटल 15 ब्लॉक हैं. इनमें 12 ब्लॉक अछनेरा, अकोला, बरौली अहीर, एत्मादपुर, बिचपुरी, फतेहाबाद, फतेहपुरसीकरी, जगनेर, खंदौली, खेरागढ, सैंया और शमसाबाद डार्क जोन में शामिल हैं. इसके अलावा तीन ब्लॉक बाह, जैंतपुर कलां और पिनाहट ऐसे ब्लॉक हैं जहां पानी का स्रोत ठीक है.

आजादी की 75वीं वर्षगांठ पर पूरा होगा काम
सीडीओ ए मनिकनंदन ने बताया कि तालाबों के निर्माण का काम ग्राम पंचायत, क्षेत्र पंचायत, नरेगा और जिला पंचायत मिलकर करेंगे. जमीन और फंड की उपलब्धता के आधार पर कार्य किया जा रहा है. उन्होंने बताया कि प्रयास है कि 15 अगस्त यानि आजादी की 75 वीं वर्षगांठ पर किसी तालाब के किनारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आदेश के अनुसार इस योजना का उद्घाटन किया जाए.

Tags: Agra news, UP news

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर