राजस्थान में बकरी चराते किडनैपर्स को दबोच लाई आगरा पुलिस, पढ़ें ऑपरेशन अकरम की पूरी कहानी
Agra News in Hindi

राजस्थान में बकरी चराते किडनैपर्स को दबोच लाई आगरा पुलिस, पढ़ें ऑपरेशन अकरम की पूरी कहानी
आगरा पुलिस के जवानों ने किडनैपिंग के खुलासे के लिए अपना हुलिया बदल लिया.

बता दें अधिवक्ता अकरम अंसारी (Advocate Akram Ansari) को आगरा (Agra) के भगवान टॉकीज चौराहे से उठाया गया था. इसके बाद अधिवक्ता को राजस्थान के बीहड़ में रखा गया. घटना के बाद पुलिस का रूप बदलकर अपहरणकर्ताओं तक पहुंच जाने की कहानी पुरानी फिल्मों की सीन जैसी है.

  • Share this:
आगरा. ताजनगरी आगरा (Agra) से अगवा (Kidnap) किए गए फिरोजाबाद (Firozabad) के अधिवक्ता अकरम अंसारी (Advocate Akram Ansari) को मुक्त कराने के लिए आगरा पुलिस (Agra Police) ने बीहड़ों में 10 दिनों तक बकरी चराई. बीहड़ों में कभी किसान तो कभी चरवाहा बनी पुलिस दर-दर भटकती रही. आखिरकार सर्विलांस पर लगे मोबाइल की लोकेशन और अत्यंत सूझ-बूझ के साथ पुलिस का ऑपरेशन अकरम सफलता के मुकाम पर पहुंच गया.

अधिवक्ता अकरम अंसारी के परिवारीजनों से गुर्जर गैंग ने 50 लाख की फिरौती मांगी थी. पुलिस ने बड़े ऑपरेशन के बाद अधिवक्ता को सकुशल मुक्त कराकर अपहरणकर्ताओं को दबोचा तो अब पुलिस के चरवाहा बनने की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है. लोग पुलिस की कार्यशैली की सराहना कर रहे हैं. बता दें अधिवक्ता अकरम अंसारी को आगरा के भगवान टॉकीज चौराहे से उठाया गया था. इसके बाद अधिवक्ता को राजस्थान के बीहड़ में रखा गया. घटना के बाद पुलिस का रूप बदलकर अपहरणकर्ताओं तक पहुंच जाने की कहानी पुरानी फिल्मों की सीन जैसी है.

बांके बिहारी और वंदेमातरम बना कोडवर्ड
अगवा अधिवक्ता को मुक्त कराने के लिए पुलिस टीमें पूरी तरह सतर्क थीं. ऑपरेशन अकरम मुक्ति में जुटी पुलिस कोडवर्ड में एक दूसरे से वार्तालाप करते रहे. बांके बिहारी और वंदेमातरम पुलिस के कोडवर्ड थे. अपराधियों से बचने के लिए कई पुलिसकर्मियों ने अपना हुलिया पूरी तरह से बदल लिया था. किसी ने अपनी दाढ़ी बढ़ा ली तो किसी ने अत्यंत पुराने कपड़े पहनकर अपनी पहचान छुपाई. आपस में पुलिसकर्मी व्हाट्सएप से बातें करते थे. 14 दिन के ऑपरेशन में कुल मिलाकर पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी. इसके साथ ही अगवा अधिवक्ता अकरम अंसारी को सकुशल मुक्त कराकर उन्हें घर पहुंचाया गया.



akram
फिरोजाबाद के वकील अकरम अंसारी को पिछले दिनों आगरा से अपहरण हो गया था. (File Photo)




पल-पल की खबर ले रहे थे डीजीपी
अधिवक्ता अकरम अंसारी के अपहरण के बाद पूरे मामले पर यूपी के डीजीपी की नजर थी. पुलिस के लिए बड़ी चुनौती थी और पुलिस अपने मिशन में कामयाब हो गई. अपहरण के मामले को लेकर पुलिस अधिवक्ताओं के आक्रोश को भी शांत कराने में कामयाब रही. मिशन कामयाब होने के बाद उच्चाधिकारियों ने आगरा की पुलिस टीम को पुरस्कृत भी किया.

फिरौती की रकम देने के 24 घंटे में कामयाब हुआ ऑपरेशन अकरम
पुलिस अधिवक्ता अकरम अंसारी की तलाश में पूरी योजनाबद्ध तरीके से काम कर रही थी. पुलिस की एक टीम चरवाहा बनकर बीहड़ में बकरियां चराती रही. दूसरी टीम मजदूर और मोबाइल टावरकर्मी बनकर बीहड़ में घूमती रही. उधर परिजन अधिवक्ता के लिए फिरौती देने में जुटे रहे. फिरौती की रकम देने के 24 घंटे बाद ही पुलिस ने 6 अपहरणकर्ताओं को दबोच लिया. पकड़े गये अपहरणकर्ताओं में धौलपुर राजस्थान का गैंग है. गैंग का कुख्यात उग्रसेन, लाखन, सुरेंद्र, राकेश, मुकेश, उर्मिला को गिरफ्तार किया गया. अपहरणकर्ताओं के कब्जे से 12.5 लाख नकदी के साथ ही फिरौती के लिए दिया बैग, मोबाइल, चार सिम कार्ड बरामद कर लिया गया.

ये भी पढ़ें:

आगरा से अगवा वकील राजस्थान से बरामद

भाई का बदला लेने के लिए ट्रक ड्राइवर को किडनैप कर उतारा मौत के घाट, 3 गिरफ्तार
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading