Home /News /uttar-pradesh /

agra the taj mahal and tejo mahal dispute heats up again know what the tourism businessmen are afraid of

आगरा:-ताजमहल और तेजो महल विवाद फिर गरमाया,जानिए पर्यटन कारोबारियों को किस बात का सता रहा है डर ?

आगरा

आगरा में स्थित ताजमहल

ज्ञानवापी मस्जिद विवाद के बाद अब आगरा (Agra) में ताजमहल (tajmahal) और तेजो महादेव tejo mahadev) मंदिर का विवाद छिड़ गया है.लखनऊ खंडपीठ में याचिका दायर की गई है.जिसमें मांग की गई है कि ताजमहल के तहखाने में मौजूद 22 कमरों को खोला जाए.इन कमरों में ऐसे सबूत मिल सकते हैं जो ताजमहल को भगवान शिव का ?

अधिक पढ़ें ...

    रिपोर्ट :- हरीकान्त शर्मा,आगरा

    ज्ञानवापी मस्जिद विवाद के बाद अब आगरा (Agra) में ताजमहल (tajmahal) और तेजो महादेव tejo mahadev) मंदिर का विवाद छिड़ गया है.लखनऊ खंडपीठ में याचिका दायर की गई है.जिसमें मांग की गई है कि ताजमहल के तहखाने में मौजूद 22 कमरों को खोला जाए.इन कमरों में ऐसे सबूत मिल सकते हैं जो ताजमहल को भगवान शिव का मंदिर साबित कर सकते हैं.लेकिन जब भी ताजमहल को लेकर कोई विवाद खड़ा होता है, तो सबसे ज्यादा पर्यटन उद्योग से जुड़े हुए कारोबारियों को नुकसान उठाना पड़ता है.क्योंकि पूरे विश्व पटल पर ताजमहल की छवि धूमिल होती है.लिहाजा पर्यटक भी नहीं आते हैं.जानिए इस पूरे घटनाक्रम पर क्या कहना है आगरा के पर्यटन उद्योग से जुड़े व्यापारियों का.

    सस्ती लोकप्रियता हासिल करने के लिए माहौल खराब किया जा रहा है

    ‘यह लीला ललन जिस पर छइयां की दंडोत करो बोलो श्री कृष्ण कन्हैया की’
    यह पंक्तियां नजीर अकबराबादी ने श्रीकृष्ण के लिए लिखी थी.आरिफ तैमूरी साहब कहते हैं कि हमेशा से आगरा सौहार्द की नगरी रहा है.यहां कई ऐसे मुस्लिम शायर हुए हैं जिन्होंने मजहबी विवादों को भी अपनी कलम से सुलझाया है.बगल में ही नज़ीर अकबराबादी की कब्र है.जिन्होंने कृष्ण पर बहुत लिखा है.मैं मानता हूं मंदिर मस्जिद विवाद किसी भी समुदाय के लिए ठीक नहीं है.यहां हमेशा से लोग बहुत प्रेम के साथ में रहते आए हैं.आज भी देश में किसी भी जगह अगर अजान होती है तो आवाज़ सुनकर मंदिर में आरती नहीं होती है.ये एक दूसरे के धर्म के प्रति सम्मान है.ताजमहल को केवल ताजमहल रहने दिया जाना चाहिए, क्योंकि यह देश विदेश तक जाना जाता है.देश की पहचान ताजमहल से है.आगरा को बहुत सारा रेवेन्यू ताजमहल से जनरेट होता है.यह सस्ती लोकप्रियता हासिल करने के लिए कुछ लोग माहौल खराब कर रहे हैं.

    कोरोना में हो चुका है भारी नुकसान अब और नहीं
    स्थानीय व्यापारियों का कहना है कि कोविड-19 की वजह से 3 सालों में ताजमहल से जुड़े कारोबार में गिरावट दर्ज की गई है.पर्यटन उद्योग से जुड़े कारोबारियों के उद्योग धंधे चौपट हो गए हैं.धीरे-धीरे गाड़ी पटरी पर आ रही है.लेकिन जब भी ताजमहल को लेकर कोई विवाद सामने आता है तब-तब पर्यटक डर की वजह से आगरा का रुख़ नहीं करते हैं.अब एक बार फिर से ताज महल और तेजो महल मंदिर का विवाद उठ खड़ा हुआ है.जिसकी वजह से विश्व पटल पर ताजमहल की छवि धूमिल होगी और एक बार फिर से विदेशी पर्यटक आगरा आने से डरने लगेंगे.जिससे पर्यटन को नुकसान होगा ताजमहल की वजह से आगरा में बहुत सारा विदेशी पैसा आता है.जिसका नुकसान भी हमें ही झेलना पड़ेगा .

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर