आगरा बस हादसा: ऐन वक्त पर बदला गया था बस का रूट, ड्राइवर रास्ते से था अनजान

कहा जा रहा है कि बस गाजीपुर जाने वाली थी, लेकिन दिल्ली जाने वाले यात्रियों की संख्या ज्यादा होने की वजह से अधिकारियों ने बस को आनंद विहार भेजने का फैसला लिया था.

News18 Uttar Pradesh
Updated: July 8, 2019, 1:38 PM IST
आगरा बस हादसा: ऐन वक्त पर बदला गया था बस का रूट, ड्राइवर रास्ते से था अनजान
यमुना एक्सप्रेसवे पर रेलिंग तोड़कर नाले में जा गिरी बस
News18 Uttar Pradesh
Updated: July 8, 2019, 1:38 PM IST
आगरा के एत्मादपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत झरना नाले के पास यमुना एक्सप्रेसवे पर हुए भीषण बस हादसे में अहम खुलासा हुआ है. बताया जा रहा है कि ऐन वक्त पर बस का रूट बदला गया था. गाजीपुर रूट की बस को आनंद विहार के लिए रवाना किया गया था. कहा जा रहा है कि बस गाजीपुर जाने वाली थी, लेकिन दिल्ली जाने वाले यात्रियों की संख्या ज्यादा होने की वजह से अधिकारियों ने बस को आनंद विहार भेजने का फैसला लिया. ऐसे में आशंका जताई जा रही है कि रूट नया होने और रास्ते का ठीक से पता न होने की वजह से ड्राइवर से गलती हुई हो.

दरअसल, रविवार को लखनऊ सीटीईटी का एग्जाम था, जिसके लिए काफी संख्या में अभ्यर्थी लखनऊ पहुंचे थे. वापसी के समय दिल्ली जाने वाले यात्रियों की संख्या काफी ज्यादा थी, जबकि गाजीपुर के लिए यात्री कम थे. ऐसे में सीएसआई ने अपने विवेक से फैसला लेते हुए गाजीपुर रूट की बस को आनंद विहार भेजने का फैसला लिया. लखनऊ के रीजनल मैनेजर पीके घोष ने बताया कि दुर्घटनाग्रस्त बस कानपुर से गाजीपुर जा रही थी. लेकिन लखनऊ में दिल्ली जाने वाले यात्रियों की संख्या ज्यादा थी, जबकि गाजीपुर की सवारी काफी कम थी. लिहाजा इस बस को दिल्ली भेजने का निर्णय लिया गया. उन्होंने बताया कि बस के ड्राइवर के पास 15 साल का अनुभव था. वह लंबी दूरी की बस ही चलाता था. उन्होंने बताया कि दुर्घटना स्थल से 10 किलोमीटर पहले ही ड्राइवर ने टोल कटवाया था. ऐसे में झपकी आने की संभावना कम है. हो सकता है रास्ते की जानकारी न होने की वजह से गलती हुई हो.

मुख्यमंत्री ने दिए जांच के आदेश

मुख्यमंत्री के निर्देश पर ट्रांसपोर्ट कमिश्नर, मंडल कमिश्नर और आईजी (आगरा रेंज) को हादसे की जांच कर कारणों का पता लगाने को कहा गया है. साथ ही हादसे की वजहों की रिपोर्ट 24 घंटे में सौंपने के निर्देश दिए गए हैं. जांच कमेटी से कहा गया है कि वह यह भी सुझाव दे कि भविष्य में इस तरह के हादसों को कैसे रोका जा सकता है. इससे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हादसे पर दुख व्यक्त करते हुए मृतकों के परिजनों को 5-5 लाख रुपए मुआवजा देने का ऐलान किया. साथ ही डीएम और एसएसपी को घायलों की समुचित इलाज मुहैया कराने का निर्देश दिया है.

तड़के साढ़े चार बजे हुआ हादसा

जिलाधिकारी एनजी रवि कुमार के मुताबिक, हादसा सुबह करीब साढ़े चार बजे के करीब हुआ, जब तेज रफ़्तार यूपी रोडवेज़ की जनरथ बस एत्मादपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत एक्सप्रेसवे की रेलिंग को तोड़ते हुए झरना नाले में जा गिरी. इस हादसे में 29 लोगों के शवों को निकाला गया है, जबकि 21 घायलों का इलाज चल रहा है. जिलाधिकारी के मुताबिक प्रथम दृष्टया हादसे की वजह तेज रफ़्तार और ड्राइवर को नींद आना है.

ये भी पढ़ें:
Loading...

PHOTOS: यमुना एक्सप्रेसवे पर सुबह 4:30 बजे हुआ हादसा, सोते रह गए 29 लोग

आगरा हादसा: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने लिया संज्ञान, सीएम योगी से की बात

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए आगरा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 8, 2019, 11:24 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...