आगरा हादसा: PM मोदी बोले- दुखी हूं, राज्य सरकार कर रही हर संभव मदद

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मामले पर संज्ञान लेकर सीएम योगी से बात की है. इसके साथ ही मौतों पर दुख भी जताया है. वहीं प्रधानमंत्री ने भी ट्वीट कर अपनी संवेदना व्यक्त की है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: July 8, 2019, 11:57 AM IST
आगरा हादसा: PM मोदी बोले- दुखी हूं, राज्य सरकार कर रही हर संभव मदद
आगरा बस हादसे पर पीएम मोदी ने अपनी संवेदना व्यक्त की है. (फाइल फोटो- एएनआई)
News18 Uttar Pradesh
Updated: July 8, 2019, 11:57 AM IST
आगरा-यमुना एक्सप्रेसवे पर सोमवार सुबह एक बड़ा हादसा हुआ. इस हादसे में कम से कम 29 लोगों की मौत हो गई जबकि कई लोग घायल बताए जा रहे हैं. मिली जानकारी के मुताबिक, घायलों में से कई की हालत गंभीर है और मृतकों की संख्या में इजाफा भी हो सकता है. यह बस लखनऊ से गाजियबाद आ रही थी तभी हादसा हुआ. लखनऊ के सांसद और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मामले पर संज्ञान लेकर सीएम योगी से बात की है. इसके साथ ही मौतों पर दुख भी जताया है. वहीं प्रधानमंत्री ने भी ट्वीट कर अपनी संवेदना व्यक्त की है.

प्रधानमंत्री मोदी ने लिखा, 'उत्तर प्रदेश के आगरा में हुए बस हादसे से दुखी हूं. मृकतों के परिजनों के साथ मेरी संवेदना है. मैं घायलों के जल्द ठीक होने की कामना करता हूं. राज्य सरकार और स्थानीय प्रशासन प्रभावितों की हर संभव मदद कर रहा है.'



वहीं बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने ट्वीट कर कहा, 'आगरा के पास हुए दुर्भाग्यपूर्ण बस हादसे में हुई मौत से दुखी हूं. शोक संतप्त परिवार के साथ मेरी संवेदनाएं हैं. मैं जख्मी हुए लोगों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं.'
Loading...

अखिलेश ने की 50 लाख रुपए मुआवजे की मांग
समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी हादसे पर गहरा दुख व्यक्त किया. उन्होंने कहा कि वे इस दुख की घड़ी में शोक संतप्‍त परिवार के साथ हैं. अखिलेश यादव ने सरकार से मुआवजा राशि बढ़ाने की मांग की है. उन्होंने कहा कि सरकार को मृतकों के परिजनों को 50-50 लाख रुपए की मुआवजा राशि देनी चाहिए. साथ ही उन्होंने पूरे मामले की उच्चस्तरीय जांच की मांग भी की.

तड़के साढ़े चार बजे करीब हुआ हादसा
जिलाधिकारी एनजी रवि कुमार के मुताबिक हादसा सुबह करीब साढ़े चार बजे के करीब हुआ जब तेज रफ़्तार यूपी रोडवेज़ की जनरथ बस एत्मादपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत एक्सप्रेसवे की रेलिंग को तोड़ते हुए झरना नाले में जा गिरी. इस हादसे में 29 लोगों के शवों को निकाला गया है, जबकि 21 घायलों का इलाज चल रहा है. जिलाधिकारी के मुताबिक प्रथम दृष्टया हादसे की वजह तेज रफ़्तार और ड्राइवर को नींद आना है.

ये भी पढ़ें-

आगरा हादसा: ऐन वक्त पर बदला गया था बस का रूट

आगरा हादसा: जांच कमेटी गठित, 24 घंटे में रिपोर्ट तलब
First published: July 8, 2019, 11:52 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...