आगरा हादसा: हेल्पलाइन नंबर जारी, इन मृतकों की हुई शिनाख्त

17 मृतकों की शिनाख्त हो गई है, जबकि कुछ लोगों की शिनाख्त होनी है. जिला प्रशासन ने 17 घायलों की सूची भी जारी की है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: July 8, 2019, 12:25 PM IST
आगरा हादसा: हेल्पलाइन नंबर जारी, इन मृतकों की हुई शिनाख्त
यमुना एक्सप्रेसवे पर भीषण सड़क हादसा
News18 Uttar Pradesh
Updated: July 8, 2019, 12:25 PM IST
आगरा के एत्मादपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत यमुना एक्सप्रेसवे हादसे में हेल्पलाइन नंबर जारी कर दी गई है. लखनऊ मुख्यालय पर बनाए गए कंट्रोल रूम से लोगों को हादसे की जानकार उपलब्ध कराई जा रही है. हेल्पलाइन नंबर 9415049606, 188102877, 9412781886 पर हादसे से जुड़ी जानकारी मुहैया कराई जा रही है. इस बीच 17 मृतकों की शिनाख्त हो गई है, जबकि कुछ लोगों की शिनाख्त होनी है. जिला प्रशासन ने 17 घायलों की सूची भी जारी की है.

इनकी हुई शिनाख्त

बस हादसे में मारे गए 29 लोगों में से एक डेढ़ साल की बच्ची और 15 साल की लड़की शामिल है. बाकी सभी पुरुष हैं. मरने वालों में सिद्धार्थ दुबे पुत्र रजनेश निवासी जगन्नाथपुर तिवारीगंज, चिनहट, लखनऊ, सत्य प्रकाश शर्मा पुत्र स्व मेवाराम शर्मा निवासी चिरंजीव विहार गाजियाबाद, धीरज पांडेय पुत्र प्रेम प्रकाश निवासी गोमतीनगर लखनऊ, अवनेश अवस्थी पुत्र अंशुमान निवासी तालकटोरा लखनऊ, सत्यप्रकाश तिवारी पुत्र उमेश चंद्र गोंडा, आदित्य कश्यप पुत्र मनीष गुप्ता गोरखपुर, प्रेमचंद्र पुत्र रामकुमार कुरुक्षेत्र हरियाणा, विजय बहादुर सिंह पुत्र सुरेंद्र बहादुर रायबरेली, हुजूर आलम पुत्र मंसूर अली नार्थ वेस्ट दिल्ली, प्रयागू मिश्रा, दीपक सिंह पुत्र महावीर प्रसाद निवासी राजाजीपुरम लखनऊ, धीरेंद्र प्रताप सिंह पुत्र पारसनाथ सिंह निवासी पुणे, अंकुर श्रीवास्तव पुत्र सुर्चवंश लाल निवासी गांधीनगर बस्ती, आकाश श्रीवास्तव पुत्र सतीश चंद्र इंदिरानगर लखनऊ, इफ्तखाब अहमद पुत्र आफताब अहमद इंदिरानगर लखनऊ, अमित कुमार पुत्र रामेश्वर गोरखपुर, दीपक कुमार पांडेय पुत्र सीताराम पांडेय भोजपुर बिहार के रहने वाले हैं. अभी तक 12 मृतकों की शिनाख्त नहीं हो सकी है.



घायलों की सूची

प्रकाश (19 वर्ष आजमगढ़), दिलीप (35 वर्ष, लखनऊ), सुनीता (35 साल, रायबरेली), अशोक कुमार (34 साल, हापुड़), सोनी (39 साल, मिर्जापुर), साहब (28 साल, कानपुर), ऋषि यादव (20 साल, बाराबंकी), प्रवेश कुमार (31 साल, आजमगढ़, संजीत कुमार (44 साल, सुलतानपुर), मनीष कुमार (33 साल, बाराबंकी), मंजू शर्मा (57 साल, गाजियाबाद), गौरव (31साल, लखनऊ), जुनैद आलम (27 साल, मुरादाबाद), प्रतीक अर्पित (24 साल, प्रयागराज), मोहम्मद अदीब (33 साल, लखनऊ) और
प्रियांशी (23 साल, लखनऊ).
Loading...

 

मुख्यमंत्री ने दिए जांच के आदेश

मुख्यमंत्री के निर्देश पर ट्रांसपोर्ट कमिश्नर, मंडल कमिश्नर और आईजी (आगरा रेंज) को हादसे की जांच कर कारणों का पता लगाने को कहा गया है. साथ ही हादसे की वजहों की रिपोर्ट 24 घंटे में सौंपने के निर्देश दिए गए हैं. जांच कमेटी से कहा गया है कि वह यह भी सुझाव दे कि भविष्य में इस तरह के हादसों को कैसे रोका जा सकता है. इससे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हादसे पर दुख व्यक्त करते हुए मृतकों के परिजनों को 5-5 लाख रुपए मुआवजा देने का ऐलान किया. साथ ही डीएम और एसएसपी को घायलों की समुचित इलाज मुहैया कराने का निर्देश दिया है.
First published: July 8, 2019, 12:25 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...