Home /News /uttar-pradesh /

ताजमहल देखने आने वाले सैलानियों को अब मिलेगी शुद्ध हवा

ताजमहल देखने आने वाले सैलानियों को अब मिलेगी शुद्ध हवा

ताजमहल देखने वालों को मिलेगी शुद्ध हवा (फाइल फोटो)

ताजमहल देखने वालों को मिलेगी शुद्ध हवा (फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (UPPCB) द्वारा ताजमहल परिसर में वायु शोधक वैन (एयर प्यूरीफायर वैन) को तैनात किया गया है. इससे तीन सौ मीटर के दायरे में आठ घंटे में 15 लाख क्यूबिक मीटर हवा को शुद्ध करने की क्षमता है.

    आगरा. ताजमहल (Taj Mahal)  पूरी दुनिया में अपनी खूबसूरती के जाना जाता है, लेकिन  इन दिनों ताजमहल पर भी धुंध के बादल छाए हुए हैं. प्रदूषण के चलते सैलानियों को ताजमहल का साफ दीदार नहीं हो पा रहा है, जिसके मद्देनजर अब एक एयर प्यूरीफायर वैन लगाई गई है ताकि पर्यटकों को शुद्ध हवा मिल सके.

    15 लाख क्यूबिक मीटर हवा को शुद्ध करने की क्षमता
    उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (UPPCB) द्वारा ताजमहल परिसर में वायु शोधक वैन (एयर प्यूरीफायर वैन) को तैनात किया गया है. इससे तीन सौ मीटर के दायरे में आठ घंटे में 15 लाख क्यूबिक मीटर हवा को शुद्ध करने की क्षमता है. यूपीपीसीबी के क्षेत्रीय अधिकारी भुवन यादव ने बताया, "हवा की गुणवत्ता में लगातार गिरावट को देखते हुए, ताजमहल के पश्चिम गेट पर एक मोबाइल एयर प्यूरीफायर वैन तैनात की गई है."

    आगरा में एयर प्यूरीफायर वैन तैनात
    आगरा में एयर प्यूरीफायर वैन तैनात


    नुकसान हो रहा है
    गौरतलब है कि सफेद संगमरमर से बनी विश्व की खूबसूरत इमारत पर प्रदूषण चिंता का कारण रहा है. प्रदूषण लगातार स्मारक को नुकसान पहुंचा रहा है. ताजमहल पर हजारों सैलानी रोजाना आते हैं. बता दें कि आगरा नगर निगम और यूपीपीसीबी ने दूरसंचार ऑपरेटर वोडाफोन-आइडिया के साथ मिलकर कॉरपोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी प्रयासों के तहत दो एयर प्यूरीफायर वैन को प्रदूषण से निपटने के लिए शहर में लाने की पहल की है.

    सरकारी तथा प्राइवेट स्कूल बंद
    इस बीच बढ़ते वायु प्रदूषण की वजह से गौतमबुद्ध नगर और गाजियाबाद के डीएम ने जिले के सभी सरकारी तथा प्राइवेट स्कूलों को 5 नवंबर तक बंद करने का आदेश दिया है. वायु प्रदूषण के कारण दिल्ली से विमान की आवाजाही पर भी असर पड़ा है. वहीं नोएडा, गाजियाबाद और उसके आसपास के इलाकों में AQI रविवार दोपहर 1600 के पास पहुंच गया.

    बढ़ रही हैं ये बीमारियां
    हवा में घुले जहर के कारण कई बीमारियां दस्तक दे रही हैं. लोगों को हृदय से जुड़ी बीमारियां, अस्थमा के लक्षण, सांस लेने में दिक्क्त, फेफड़ों में इंफेक्शन बढ़ने लगे हैं. दिवाली के बाद प्रदूषण में बढ़ोतरी होने से अस्पतालों में सांस की बीमारियों से पीड़ित लोगों की संख्या 20-25 फीसदी तक बढ़ गई है. डॉक्टरों का कहना है कि ऐसे रोगियों को प्रदूषण बढ़ने से सांस लेने में तकलीफ, अस्थमा अटैक के लक्षण बढ़ जाते हैं.

    ये भी पढ़ें: बुंदेलखंड के युवाओं पर चढ़ा PUBG Mobile गेम का नशा, छात्र ने किया आत्महत्या का प्रयास

    Tags: Agra airport, Agra news, Air pollution, Taj mahal, UP news, Uttar pradesh news, Yogi adityanath

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर