लाइव टीवी

आगरा: ऑटो सेक्टर में मंदी की मार से सरकार के टैक्स कलेक्शन में भारी गिरावट

News18 Uttar Pradesh
Updated: October 23, 2019, 5:07 PM IST
आगरा: ऑटो सेक्टर में मंदी की मार से सरकार के टैक्स कलेक्शन में भारी गिरावट
आगरा में गाडियों की पंजीकरण में गिरावट से राजस्व में गिरावट

रोड टैक्स (Road Tax) के रूप में वसूली जा रही रकम में भारी गिरावट दर्ज की गई है. ये गिरावट लाखों में नहीं बल्कि करोड़ों में है.

  • Share this:
आगरा. ऑटो सेक्टर (Auto Sector) में आई मंदी (Slowdown) से लोगों का रोज़गार तो जा ही रहा है, लेकिन इसका असर सरकार के राजस्व (Revenue Collection) पर भी देखने को मिल रहा है. ऑटो सेक्टर में मंदी से हर महीने सरकार को भारी भरकम रकम का नुकसान भी हो रहा है. मंदी से टैक्स कलेक्शन (Tax Collection) में भारी गिरावट देखने को मिली है. रोड टैक्स (Road Tax) के रूप में वसूली जा रही रकम में भारी गिरावट दर्ज की गई है. ये गिरावट लाखों में नहीं बल्कि करोड़ों में है. सिर्फ आगरा की बात करेंगें तो आरटीओ विभाग को कितना नुकसान हुआ है या यूं कहें कि टैक्स कलैक्शन में कितनी कमी आई है तो आंकड़े चौंकाने वाले हैं. |

6 महीने में आई भारी गिरावट

आगरा के आरटीओ विभाग के आंकड़ों पर नज़र डालें तो 1 अप्रैल 2018 से 30 सितम्बर तक छह महीने में 42987 दो पहिया वाहन रजिस्टर्ड हुए जबकि 6774 चार पहिया वाहन रजिस्टर्ड हुए थे. यानी कुल मिला कर 49761 वाहन रजिस्टर्ड हुए और इन वाहनों से करीब 63 करोड़ 81 लाख रुपये का टैक्स वसूला गया. अब एक नज़र 1 अप्रैल 2019 से लेकर 30 सितम्बर 2019 के आंकड़ों पर डालें तो इस दरम्यान 38497 दो पहिया वाहनों का रजिस्ट्रेशन हुआ, जबकि 5569 चार पहिया वाहन रजिस्टर्ड हुए. इन छह महीनों का टैक्स कलेक्शन देखा जाए तो महज 56 करोड़ 76 लाख रुपया हुआ.

वाहन बिक्री में कमी की वजह से है गिरावट

आंकड़ों पर नज़र डालने के बाद पता चला कि 4490 दोपहिया और 1205 चार पहिया का कम रजिस्ट्रेशन हुआ और टैक्स के अंतर को देखा जाए तो करीब 7 करोड़ रुपये के टैक्स कलेक्शन में कमी दर्ज की गई है. एआरटीओ अनिल कुमार सिंह का कहना कि मंदी की मार का ही असर है जिसकी वजह से वाहन की बिक्री में कमी आ रही है. जब वाहन कम बिक रहे हैं तो जाहिर सी बात है कि रजिस्ट्रेशन भी कम हो रहे हैं, जिससे टैक्स कलेक्शन में कमी आ रही है.

ये भी पढ़ें:

Kamlesh Tiwari ने हत्या से एक दिन पहले ट्विटर पर शेयर की थी 16 मंदिर-मस्जिदों के नाम वाली ये लिस्ट
Loading...

कमलेश तिवारी मर्डर केस: नेपाल बॉर्डर तक पहुंच गए थे आरोपी, फिर इस कारण लौटे थे गुजरात

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए आगरा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 23, 2019, 5:07 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...