Home /News /uttar-pradesh /

यूपी चुनाव से पहले BJP सांसद रामशंकर कठेरिया की बढ़ी मुश्किले, आगरा में उनकी पत्नी सहित 10 लोगों के खिलाफ FIR

यूपी चुनाव से पहले BJP सांसद रामशंकर कठेरिया की बढ़ी मुश्किले, आगरा में उनकी पत्नी सहित 10 लोगों के खिलाफ FIR

इटावा से बीजेपी सांसद रामशंकर कठेरिया की फाइल फोटो.

इटावा से बीजेपी सांसद रामशंकर कठेरिया की फाइल फोटो.

Agra News: पीड़िता लक्ष्मी नारायन ने जब धोखाधड़ी के तथ्य सामने आए तो इसकी शिकायत उन्होंने मुख्यमंत्री पोर्टल के साथ ही एसएसपी से की थी. लेकिन कोई नतीजा नहीं निकला. उसके बाद न्यायालय का दरवाजा खटखटाया और प्रार्थना पत्र दिया. जिसके बाद न्यायलय के द्वारा थाना एत्मादपुर में मुकदमा पंजीकृत कर विवेचना के आदेश दिए गए हैं.

अधिक पढ़ें ...

आगरा, कामिर क़ुरैशी. इटावा से बीजेपी सांसद रामशंकर कठेरिया (BJP MP Ramshankar Katheria) और उनकी पत्नी मृदुला कठेरिया सहित दस लोगों के खिलाफ न्यायिक मजिस्ट्रेट/ अपर सिविल (जूनियर डिवीजन) कोर्ट ने मुकदमा दर्ज करने के आदेश किए हैं. सांसद व उनकी पत्नी समेत सभी आरोपितों पर धोखाधड़ी का आरोप है. अदालत ने एत्मादपुर के रहनकलां निवासी लक्ष्मी नारायण द्वारा प्रस्तुत प्रार्थना पत्र पर एत्मादपुर थानाध्यक्ष को मुकदमा दर्ज कर विवेचना के आदेश किए हैं.

दरअसल बीते दिनों एत्तमादपुर राहनकला निवासी वादी लक्ष्मी नारायण ने अदालत में प्रार्थना पत्र प्रस्तुत किया था. वादी के अनुसार उसकी जमीन में अन्य सहखातेदारों छोटेलाल, रूम सिंह, भीम सिंह, हुकुम सिंह, मलखान सिंह, तोताराम, राजकुमार, धर्मेंद्र, मीरा आदि ने 10 बीघा खेत को हड़पने के लिए विपक्षीगणों से मिल जुलकर साजिश रची. जिसके बाद करोड़ों की बेशकीमती जमीन का बैनामा 24 फरवरी 2021 को मृदुला कठेरिया को कर दिया.

जानिए पूरा मामला
लक्ष्मी नारायण के अनुसार उसके व अन्य खातेदारों के पूर्वज चंद्रभान, जोध सिंह, सोबरन व अमर सिंह पिता श्रीलाल उर्फ श्रीपाल ने 16 अगस्त 1958 को उक्त खेत का बैनामा कराया था. जिसमें श्रीलाल का एक चौथाई हिस्सा था. वर्तमान में खसरा नंबर का पुराना नंबर जो इस बैनामे में अंकित चला आ रहा है, उसी बैनामे के आधार पर खरीददारों का नाम चढ़ गया. जोध सिंह, चंद्रभान व सोबरन सिंह की मृत्यु के बाद उनके वारिसानों के नाम खतौनी में दर्ज हो गए. जिसमें वादी व सह खातेदारों के नाम थे.वादी का आरोप है कि अमर देवी ने विपक्षीगणों से मिल फर्जी दस्तावेज तैयार कर श्रीलाल की वारिस बन वर्ष 1058 के नामों को हटा अपना नाम चढवा लिया.

मुख्यमंत्री पोर्टल पर की थी शिकायत
मृदुला कठेरिया को सांसद की पत्नी हैं, उनके साथ खंदारी परिसर में रहती हैं. इसके बावजूद बैनामे में उन्होंने मृदुला कठेरिया पुत्री राजेश्वर दयाल निवासी बिल्लोचपुरा ताजगंज का पता दर्ज करा था. जिसके बाद उक्त पत्रावली वादी को सूचना दिए बिना तहसील खेरागढ़ स्थानांतरित करा दी. पीड़िता लक्ष्मी नारायन ने जब धोखाधड़ी के तथ्य सामने आए तो इसकी शिकायत उन्होंने मुख्यमंत्री पोर्टल के साथ ही एसएसपी से की थी. लेकिन कोई नतीजा नहीं निकला. उसके बाद न्यायालय का दरवाजा खटखटाया और प्रार्थना पत्र दिया. जिसके बाद न्यायलय के द्वारा थाना एत्मादपुर में मुकदमा पंजीकृत कर विवेचना के आदेश दिए गए हैं.

Tags: Agra news, Agra news today, BJP leader Ramshankar Katheria, BJP MP, UP Assembly Election 2022, UP Chunav 2022, UP news, UP police, आगरा

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर