होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /UP: आगरा जेल में भागवत कथा का पाठ, कैदियों की मानसिकता बदलने का है मकसद

UP: आगरा जेल में भागवत कथा का पाठ, कैदियों की मानसिकता बदलने का है मकसद

Agra News: बता दें कि समय-समय पर आगरा के केंद्रीय जेल में कैदियों के लिए ऐसे धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन किये जाते रहत ...अधिक पढ़ें

रिपोर्ट: हरिकांत शर्मा

आगरा: ये दृश्य किसी मंदिर या फिर सार्वजनिक स्थल पर हो रही भागवत कथा का नहीं है बल्कि जेल में हो रही तीन दिवसीय श्रीराम कथा का दृश्य है. आरती करने वाले कारागार मंत्री धर्मवीर प्रजापति और पुलिस महानिदेशक कारागार आंनद कुमार है. साथ ही सामने किसी न किसी अपराध की सजा काटने वाले कैदी श्रोता के रूप में बैठे हुए हैं. आगरा के केंद्रीय कारागार में तीन दिवसीय भागवत का आयोजन किया जा रहा है. कहा जा सकता है जेल में बंद कैदी अब राम कथा के माध्यम से अपने पापों का प्रायश्चित करेंगे. इन कैदियों को मुख्यधारा में लाने के लिए एक प्रयास किया गया है ताकि आगे चलकर यह कैदी भी समाज का हिस्सा बन सकें.

समाज का हिस्सा है कैदी
कारागार एवं होमगार्ड मंत्री धर्मवीर प्रजापति ने आगरा के कारागार में तीन दिवसीय श्री राम भागवत कथा का शुभारंभ किया. 25 नवंबर से यह भागवत कथा शुरू हुई जो तीन दिनों तक चलेगी. इस मौके पर कारागार मंत्री धर्मवीर प्रजापति ने कहा कि कैदी जेल में किसी न किसी अपराध की सजा काट रहे हैं. वो भी समाज का महत्वपूर्ण अंग हैं. उन्होंने जाने अनजाने में अपराध की दुनिया में कदम रखा, लेकिन इन्हें भी एक सुधरने का मौका मिलना चाहिए. जब यह कैदी यहां से सजा काटकर अपने घर वापस जाएं तो यह भी मुख्यधारा में लौट कर समाज का हिस्सा बनेंगे, इसलिए इनके लिये भी ऐसे धार्मिक आयोजन जरूरी है. जेल में कैदी बाहरी दुनिया से बिल्कुल कटे रहते हैं. जेल के अंदर ऐसे धार्मिक आयोजन इन कैदियों की मानसिक सोच में भी सकारात्मक बदलाव लाएंगे.

कैदियों को बनाया जा रहा है स्वावलंबी
बता दें कि समय-समय पर आगरा के केंद्रीय जेल में कैदियों के लिए ऐसे धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन किये जाते रहते हैं. जन्माष्टमी के मौके पर भी कैदियों ने पूरी जेल को दुल्हन की तरह रंग बिरंगी लाइटों से सजाया था. केंद्रीय जेल के कैदी भी अब आत्मनिर्भर बनते जा रहे हैं. जेल के अंदर काम करके अपने घर वालों को भी पैसा भेजते हैं. इसके साथ ही आज शहर की एक सामाजिक संस्था ने गाय के गोबर से लकड़ी बनाने की मशीन भी जेल में लगाई गई है.

Tags: Agra Central Jail, Agra news, UP news, Yogi government

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें