अटल जी के पैतृक गांव बटेश्वर में CM योगी ने किया अस्थियों का विसर्जन

मुख्यमंत्री की घोषणा के बाद आगरा जिला प्रशासन ने इस पर काम करना शुरू कर दिया है. उपेक्षा का दंश झेल रहे भारत रत्न व पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी के पैतृक गांव बटेश्वर के अच्छे दिन आने वाले हैं.

News18 Uttar Pradesh
Updated: September 8, 2018, 4:28 PM IST
अटल जी के पैतृक गांव बटेश्वर में CM योगी ने किया अस्थियों का विसर्जन
बटेश्वर पहुंचे सीएम योगी
News18 Uttar Pradesh
Updated: September 8, 2018, 4:28 PM IST
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  ने शनिवार को पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के पैतृक गांव बटेश्वर में उनकी अस्थियों को यमुना नदी में विसर्जित किया. बटेश्वर धाम पर भगवान शिव के उद्घोषों के बीच मंत्रोच्चरण के साथ विधिविधान से विसर्जन की प्रक्रिया पूरी हुई. इसके बाद सीएम ने बटेश्वर धाम में पूजा अर्चना की और फिर वापस दिल्ली के लिए रवाना हो गए. सीएम योगी के पैतृक आवास नहीं पहुंचने पर अटल जी के परिजनों ने नाराजगी जाहिर की है.

बता दें स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी के यूपी से लगाव को देखते हुए योगी सरकार ने उनके स्मृतियों को जीवित रखने के लिए कई घोषणाएं की हैं. प्रदेश में उनके नाम पर अस्पताल खोलने से लेकर जगह-जगह उनके स्मारक बनाए जाने का निर्णय लिया है.

मुख्यमंत्री की घोषणा के बाद आगरा जिला प्रशासन ने इस पर काम करना शुरू कर दिया है. लगता है कि उपेक्षा का दंश झेल रहे भारत रत्न व पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी के पैतृक गांव बटेश्वर के अच्छे दिन आने वाले हैं. फरह के दीनदयाल धाम की तर्ज पर ही बटेश्वर को विकसित करने की तैयारी की जा रही है. इसके लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सौगातों का पिटारा खोल सकते हैं.

अस्थि विसर्जन के बाद मुख्यमंत्री पूर्व प्रधानमंत्री के पैतृक निवास स्थल और उनकी कुल देवी के मंदिर को देखेंगे, जो कि काफी जर्जर हालत में हैं. हालांकि मुख्यमंत्री के कार्यक्रम को देखते हुए इनकी साफ-सफाई कर दी गई है. अटल बिहारी वाजपेयी ने अप्रैल 1999 में जिस पर्यटक कॉम्प्लेक्स का लोकार्पण किया था, अब वो भी काफी जर्जर हालत में हैं, वहीं पास में ही सांस्कृतिक प्रेक्षागृह भी उपेक्षा का शिकार है.

ये है मिनट-टू मिनट कार्यक्रम
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सुबह 10.30 बजे बटेश्वर हेलीपैड पर उतरे.
उन्होंने सुबह 10.30 से 10.35 बजे के बीच मंदिर में दर्शन किए.
10.35 से 11.00 बजे तक अस्थि विसर्जन कार्यक्रम में हिस्सा लिया.
11.00 से 11.15 बजे तक घाट का निरीक्षण किया.
11.15 से 11.30 बजे तक अटल जी के पैतृक निवास का निरीक्षण.
11.30 से 12 बजे तक जनप्रतिनिधियों से मिले
12.05 बजे बटेश्वर हेलीपैड से गजियाबाद हिण्डन एयरपोर्ट के लिए रवाना हुए. जहां से वे सड़क मार्ग से दिल्ली के लिए रवाना हो गए.

ये भी पढ़ें:

फरवरी में आयोजित होगी UP बोर्ड परीक्षा, ब्लैक लिस्टेड विद्यालयों पर पैनी नजर: दिनेश शर्मा

यूपी में BSA सहित 26 अधिकारियों के तबादले, देखें लिस्ट

मेरठ: एक रुपये के लिए व्यापारी को बदमाशों ने मारी गोली
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर