Home /News /uttar-pradesh /

dr nutan thakur wife of ips amitabh thakur driving license fake by rto nodelsp

आगरा: पूर्व IPS अमिताभ ठाकुर की पत्नी नूतन ठाकुर के ड्राइविंग लाइसेंस को RTO ने बताया फर्जी, जानें मामला

पूर्व आईपीएस की पत्नी डॉ.नूतन ठाकुर के ड्राइविंग लाइसेंस को आगरा आरटीओ ने फर्जी बताया तो इसकी शिकायत एसएसपी से की गई. फाइल फोटो

पूर्व आईपीएस की पत्नी डॉ.नूतन ठाकुर के ड्राइविंग लाइसेंस को आगरा आरटीओ ने फर्जी बताया तो इसकी शिकायत एसएसपी से की गई. फाइल फोटो

Nutan Thakur driving license: आगरा आरटीओ विभाग एक बार फिर विवादों में है. आरटीओ ने रिन्यूअल के लिए आए पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर की पत्नी नूतन ठाकुर के लाइसेंस को ही फर्जी बता दिया. लाइसेंस से जुड़े दस्तावेज विभाग में मौजूद नहीं हैं. इस मामले में नूतन ठाकुर ने एसएसपी आगरा को अवगत कराया है और कार्रवाई की मांग की है.

अधिक पढ़ें ...

आगरा. आगरा के आरटीओ विभाग का विवादो में गहरा नाता रहा है. एक और विवाद आगरा आरटीओ (Agra RTO) से जुड़ता हुआ दिखाई दिया है. मामला पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर (Former IPS Amitabh Thakur) की पत्नी और सोशल एक्टिविस्ट डॉक्टर नूतन ठाकुर से जुड़ा हुआ है. पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर की पत्नी नूतन ठाकुर का ड्राइविंग लाइसेंस फर्जी पाया गया है, जिसकी जानकारी तब हुई जब लाइसेंस को रिन्यूअल के लिए आरटीओ ऑफिस भेजा गया. जब विभाग में लाइसेंस के कागजात की खोजबीन की गई तो लाइसेंस फर्जी पाया गया. इस मामले में नूतन ठाकुर ने एसएसपी आगरा को अवगत कराया है और कार्रवाई की बात कही है.

पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर ने आगरा में तैनाती के दौरान अपनी पत्नी नूतन ठाकुर का लाइसेंस बनवाया था. 3 जून 2022 को लाइसेंस की अवधि समाप्त हो गई. इसके बाद लाइसेंस को नवीनीकरण कराने के लिए लाइसेंस नंबर 117/AG/06 के लिए जानकारी की तो पाया कि इस नंबर पर किसी और का लाइसेंस मौजूद है और नूतन ठाकुर का लाइसेंस फर्जी है. आगरा के आरटीओ विभाग के रजिस्टर में चेक भी किया गया, जिसमें उनके लाइसेंस की फीस जमा नहीं थी और न ही ब्योरा दिया गया था.

2008 तक के ज्यादातर लाइसेंस फर्जी
आगरा के एआरटीओ एके सिंह ने News 18 हिंदी को बताया कि 1998 से लेकर 2008 तक कार्ड वाले कई लाइसेंस बनाए गए थे, जिसमें से ज्यादातर लाइसेंस फर्जी पाए गए हैं. इनका विभाग में कोई लेखा जोखा नहीं है. इसमें एक लाइसेंस डॉक्टर नूतन ठाकुर का भी है. नूतन ठाकुर के लाइसेंस का ब्यौरा भी विभाग में नहीं है और फीस रजिस्टर में भी कोई फीस जमा नहीं है. हालांकि उस समय यह लाइसेंस किसके द्वारा बनाया गया और किसने बनवाया है अभी इसकी जानकारी नहीं है.

एसएसपी से की पूरे मामले की शिकायत
नूतन ठाकुर ने एक वीडियो वायरल किया है, जिसमे उन्होंने पूरे मामले का वर्णन किया है. वीडियो के माध्यम से उन्होंने बताया कि लाइसेंस के रिन्यूअल के लिए जब आगरा के आरटीओ में लाइसेंस भेजा गया तो वहां पता चला कि यह लाइसेंस फर्जी है. इसके संबंध में एसएसपी सुधीर कुमार सिंह से जांच कर कानूनी कार्रवाई करने की मांग की गई है.

Tags: Agra news, Agra RTO Department, Fake news, IPS Officer, UP news, UP Police उत्तर प्रदेश, Yogi government

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर