• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • जिला अस्पताल की OPD में घंटो खड़े रहने से बुजुर्ग महिला बेहोश होकर गिरी 

जिला अस्पताल की OPD में घंटो खड़े रहने से बुजुर्ग महिला बेहोश होकर गिरी 

घंटों

घंटों ओपीडी की लाइन में खड़े होने पर बेहोश होकर गिरी बुजुर्ग महिला

जिला अस्पताल की ओपीडी का आलम ये है कि पर्चा बनवाने के लिए मरीज़ो को घंटों लाइनों में खड़ा होना पड़ता है .

  • Share this:

    जिला अस्पताल की ओपीडी का आलम ये है कि पर्चा बनवाने के लिए मरीज़ो को घंटों लाइनों में खड़ा होना पड़ता है . पर्चा बनवाने की लाइन में घंटों खड़े रहने से एक बुजुर्ग महिला की तबीयत बिगड़ गई और वह बेहोश होकर गिर पड़ी. इसके साथ ही उमस की वजह से कई मरीजों की भी तबीयत बिगड़ गई. कई मरीजों का गुस्सा भी कैमरे के सामने फूटा उन्होंने कहा कि हम कई घंटों से लाइन में खड़े हैं. ओपीडी में पर्चा बनाने की प्रक्रिया बेहद धीमी है. जिस वजह से लंबी लंबी कतारें लगी हुई है. इसके बाद भी डॉक्टरों के केबिन के बाहर भी हमें घंटों लाइन लगानी होती है.तब कहीं जाकर इलाज मिल पाता है.

    मुश्किल से बनता है ओपीडी का पर्चा घंटों डॉक्टरों के केबिन के बाहर लगानी पड़ती है लाइन

    आगरा जिला अस्पताल की स्वास्थ्य व्यवस्था राम भरोसे हैं. मरीजों को सबसे पहले जिला अस्पताल की ओपीडी में लंबे इंतजार से पहले
    दो,चार करना पड़ता हैं. घंटों लाइन में खड़ा होने के बाद तब कही जाकर पर्चा बनता है. इसके बाद डॉक्टरों के केबिन के बाहर फिर से लाइन में लगाते हैं.  तब जाकर कहीं डॉक्टर उन्हें देखते हैं इस पूरी प्रक्रिया में मरीजों का आधा दिन बीत जाता है.

    नहीं मिलती जिला अस्पताल में पूरी दवाई

    कई मरीजों का कहना है जिला अस्पताल में दवाई के नाम पर केवल खानापूर्ति की जा रही है डॉक्टर ज्यादातर बाहर की दवाइयां लिखते हैं.जिला अस्पताल की फार्मेसी में ज्यादातर दवाइयां उपलब्ध नहीं है. सभी को एक जैसी दवाई देकर बाहर का रास्ता दिखा दिया जाता है. भले ही डॉक्टर दवाई लिखे लेकिन फार्मेसी पर यह कह दिया जाता है कि यह दवा उपलब्ध नहीं है ,बाहर से ले ली जाए.यह एक दो मरीजों के साथ नहीं होता तमाम ऐसे मरीज हैं जिन्हें मजबूरन बाहर से दवाई लेनी पड़ती है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज