होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /

OMG! नवजात के लिए भगवान बनी ये डाक्टर, मुंह से फूंककर किया जिंदा

OMG! नवजात के लिए भगवान बनी ये डाक्टर, मुंह से फूंककर किया जिंदा

डॉ. सुरेखा ने यहां प्रसव के बाद एक नवजात को अपनी सांसें देकर जीवत कर दिया.

डॉ. सुरेखा ने यहां प्रसव के बाद एक नवजात को अपनी सांसें देकर जीवत कर दिया.

यह मामला एत्मादपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का है, जहां खुशबू नाम की महिला ने एक बच्ची को जन्म दिया, लेकिन नवजात सांस नहीं ले रही थी. फिर ऑपरेशन थिएटर में प्रसव करा रहीं डॉ. सुरेखा ने उसको मशीन से ऑक्सिजन देने की कोशिश की, लेकिन वह भी असफल रहा. ऐसे में डॉ. सुरेखा ने नवजात को अपने मुंह से लगाकर सांस देना शुरू कर दिया.

अधिक पढ़ें ...

आगरा. एक डाक्टर को धरती का भगवान ऐसे ही नहीं कहा जाता. आगरा के एत्मादपुर में एक महिला डॉक्टर ने एक बार फिर इस कथन को सार्थक करके दिखाया है. इस डॉक्टर ने यहां प्रसव के बाद एक नवजात को अपनी सांसें देकर जीवत कर दिया. इधर बच्चे की मां पीड़ा से कराहते कराहते बेसुध पड़ी नई जिंदगी की आस में डाक्टर को एकटक देखे जा रही थी. उधर महिला चिकित्सक तब तक कोशिश करती रही, जब तक नवजात की किलकारी न गूंजी उठी. और आखिरकरा डाक्टर की इन कोशिशों ने एक नवजात को जीवन प्रदान कर दिया.

यह मामला एत्मादपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का है, जहां खुशबू नाम की महिला ने एक बच्ची को जन्म दिया, लेकिन नवजात सांस नहीं ले रही थी. फिर ऑपरेशन थिएटर में प्रसव करा रहीं डॉ. सुरेखा ने उसको मशीन से ऑक्सिजन देने की कोशिश की, लेकिन वह भी असफल रहा. ऐसे में डॉ. सुरेखा ने नवजात को अपने मुंह से लगाकर सांस देना शुरू कर दिया. यह देख वहां मौजूद स्टाफ हतप्रभ रह गए.

ये भी पढ़ें- सफाई कर्मचारी गणेश चंद्र बने विधायक, बोले- BJP ने दिया बड़ा संदेश

इस दौरान एक स्टाफ ने इसका वीडियो बना लिया. इस वीडियो में दिख रहा था कि डॉ. सुरेखा खून से लथपथ नवजात को मुंह से सांस देने के साथ-साथ सीने पर पंप कर रही थीं और आखिरकार वे नवजात को जीवन देने में सफल रहीं. नवजात की सांस लौटने पर डॉ. सुरेखा के चेहरे पर एक अलग खुशी और चमक थी. उधर मासूम की सांसें लौट आई थीं.

ये भी पढ़ें- स्वामी प्रसाद मौर्य को अब भी विधानसभा भेजेगी सपा, अखिलेश यादव ने तैयार किया प्लान!

अब लोग डॉक्टर के मासूम को मुंह से सांस देने के वीडियो के सोशल मीडिया पर खूब शेयर कर रहे हैं. लोग उनके इस कार्य की सराहना कर रहे हैं और साथ ही अन्य चिकित्सकों को उनसे सीखने की सलाह दे रहे हैं. आगरा में महिला डॉक्टर की इंसानियत और समझदारी एक मिसाल बन गई है.

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर