Home /News /uttar-pradesh /

 Event in Agra :- खादी के चाहने वालों के लिए लगाया गया है 10 दिनों का मेला, अचार से लेकर बेहतरीन साड़ियां बनी आकर्षण का केंद्र

 Event in Agra :- खादी के चाहने वालों के लिए लगाया गया है 10 दिनों का मेला, अचार से लेकर बेहतरीन साड़ियां बनी आकर्षण का केंद्र

मंडल

मंडल स्तरीय खादी प्रदर्शनी में खरीदारी करते लोग

खादी एक व्यवसाय नहीं हैं और ना ही वस्त्र है, खादी एक विचार है जो महात्मा गांधी ने दिया था. इसी विचार को गांव-गांव तक पहुंचाने का महात्मा गांधी ने सपना भी देखा था.इसी सपने को साकार करने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार के खादी ग्रामोद्योग बोर्ड द्वारा आगरा के शहीद भगत सिंह मैदान एमजी रोड पर 10 दिनों के लिए मंडल स्तरीय प्रदर्शनी लगाई गई है.

अधिक पढ़ें ...

    खादी एक व्यवसाय नहीं हैं और ना ही वस्त्र है, खादी एक विचार है जो महात्मा गांधी ने दिया था. इसी विचार को गांव-गांव तक पहुंचाने का महात्मा गांधी ने सपना भी देखा था.इसी सपने को साकार करने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार के खादी ग्रामोद्योग बोर्ड द्वारा आगरा के शहीद भगत सिंह मैदान एमजी रोड पर 10 दिनों के लिए मंडल स्तरीय प्रदर्शनी लगाई गई है. इस प्रदर्शनी में अचार से लेकर खादी के बने कपड़े, साड़ियां,सूट,लकड़ी के समान 15 से 20% के डिस्काउंट पर मिल रहे हैं.

    खादी बन रही है लोगों के लिए रोजगार
    देश आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है.उसी अमृत महोत्सव के द्वारा खादी को बढ़ावा देने के लिए खादी ग्राम उद्योग बोर्ड ने 10 दिनों का मेला लगाया है.इस मेले का आज दूसरा दिन है, मेले में लगभग 50 से ज्यादा लोगों ने स्टॉल लगाए है.इन स्टॉल पर खादी से बनी हुई साड़ियां, सूट दुपट्टे ,कपड़े, मोदी कट ,वूलन कपड़े 20% डिस्काउंट पर मिल रहे हैं. इसके साथ ही अब उत्तर प्रदेश सरकार खादी को गांव-गांव तक पहुंचा रही है. खादी को अब स्वरोजगार के तौर पर भी देखा जा रहा है. अब गांव में भी छोटे-छोटे स्तर पर खादी के बने कपड़े बनाए जा रहे हैं.

    प्रचार प्रसार ना करने की वजह से फीका है मेला
    हालांकि इस मंडल स्तरीय मेले में 4 जिलों से लोग अपना खादी से बना हुआ सामान बेचने के लिए आए हैं. लेकिन कई दुकानदारों ने व्यवस्थाओं पर सवाल उठाते हुए कहा कि इस मेले का प्रचार-प्रसार नहीं किया जा रहा है.जिसकी वजह से ग्राहक मेले में कम पहुंच रहे हैं.इसके साथ ही मेले में मूलभूत सुविधाओं का भी अभाव रहा है. प्रॉपर तरीके से लाइटिंग नहीं की गई है.वही सामान की सुरक्षा की भी कोई भी जिम्मेदारी नहीं ली गई है. इसके साथ ही जिस मन से वह इस मेले में आए थे उस हिसाब से उनकी बिक्री नहीं हो रही है. दुकानदारों के लोगों से अपील है कि वह इस मेले में आए और खादी से जरूर जुड़े क्योंकि खादी से कई लोगों का रोजगार जुड़ा है और उनका घर चलता है.

    रिपोर्ट हरिकांत शर्मा

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर