लाइव टीवी

आगरा में फर्जी बैंक का भंडाफोड़, ऐसे पुलिस की गिरफ्त में आए जालसाज

News18 Uttar Pradesh
Updated: January 29, 2020, 7:18 PM IST
आगरा में फर्जी बैंक का भंडाफोड़, ऐसे पुलिस की गिरफ्त में आए जालसाज
अब तक चालीस लाख रुपये फर्जी बैंक में जमा हुए थे.

आगरा शहर (Agra City) के शाहगंज इलाके में एक फर्जी बैंक (Fake Bank) का खुलासा हुआ है. इस बैंक में ना सिर्फ सेविंग एकाउंट खोले जा रहे थे बल्कि उसमें खाता धारक रुपये भी जमा कर रहे थे. फिलहाल पुलिस ने फर्जी बैंक चला रहे छह जालसाजों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.

  • Share this:
आगरा. बैंक में धोखाधड़ी या फिर गोलमाल होते हुए आपने बहुत सुना होगा, लेकिन क्या आपने सुना है कि कोई पूरी बैंक ही फर्जी है. आगरा में एक फर्जी बैंक (Fake Bank) का मामला सामने आया है, जिसमें ना सिर्फ खाते खोले जा रहे थे बल्कि उन खातों में रकम भी जमा हो रही थी. जी हां, आगरा शहर (Agra City) के शाहगंज इलाके में इस तरह की एक बैंक चल रही थी जिसमें सेविंग एकाउंट खोले जा रहे थे और उसमें खाता धारक रुपये भी जमा कर रहे थे. हैरानी की बात ये है कि इसका काम भी अन्‍य बैंकों की ही तरह चल रहा था. फिलहाल पुलिस ने फर्जी बैंक चला रहे छह जालसाजों को गिरफ्तार किया है.

गरीब लोगों को बनाया था निशाना
ये जालसाज बेहद शातिर किस्म के थे. बैंक खोलने वालों को मालूम था कि पढ़ा-लिखा और अमीर आदमी इनके झांसे में नहीं आएगा, लिहाजा इन्होंने गरीब और कम पढ़े लिखे लोगों को निशाना बनाया. इन जालसाजों ने गरीबों को झांसा दिया कि उनकी ये नई बैंक है और अगर वो खाता खुलवाते हैं तो वह दूसरी बैंकों की तुलना में ज्यादा ब्याज देगी. इसी तरह के झांसे में आकर सैकड़ों लोगों ने इस बैंक में अपना खाता खुलवा लिया. इन जालसाजों पर किसी तरह का कोई शक न हो इसलिए इन्होंने बैंक का नाम ऐसा रखा कि लोग सोच ही नहीं पाए. जालसाजों ने बैंक का नाम रखा था इनक्रेडिबल बैंक. यही वजह है कि बैंक का नाम और हावभाव देख कर लोग धड़ाधड़ खाते खुलवा रहे थे.

इस तरह से हुआ भंड़ाफोड़

एसपी सिटी रोहन पी बोत्रे के अनुसार हैदर नाम के एक युवक ने शिकायत दर्ज करवाई थी. इसी शिकायत पर साइबर सेल ने जांच की तब जाकर इस फर्जी बैंक का खुलासा हुआ. पुलिस ने छापेमारी कर बैंक के अंदर से काफी संख्‍या में पासबुक, मोहरें और अन्‍य कागजात बरामद किए हैं, जो आम बैंकों में इस्तेमाल होते हैं. अभी तक की जानकारी के अनुसार चालीस लाख रुपये फर्जी बैंक में जमा हुए थे. किसी को शक न हो इसलिए इन्होंने तीन ब्रांच खोल रखी थीं. फिलहाल इन सभी जालसाजों को जेल भेज दिया गया है और अब इस बात की जांच की जा रही है कि फर्जी बैंक से कितने लोग जुड़े थे.

 

ये भी पढ़ें-शिवपाल के जन्‍मदिन के बहाने 'यादव परिवार' की राजनीति में आ सकता है नया मोड़

 

ATM फ्रॉड करने वाले गैंग के 5 लोग गिरफ्तार, 25000 रुपए महीने पर बुक थी कार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए आगरा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 29, 2020, 7:18 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर