होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /Agra: नहीं मिली DAP खाद तो किसानों ने सड़क जाम कर रखी ये शर्त, छूट गया अफसरों का पसीना

Agra: नहीं मिली DAP खाद तो किसानों ने सड़क जाम कर रखी ये शर्त, छूट गया अफसरों का पसीना

आगरा में DAP खाद को लेकर किसानों ने की सड़क जाम, कई जगह प्रदर्शन.

आगरा में DAP खाद को लेकर किसानों ने की सड़क जाम, कई जगह प्रदर्शन.

Agra fertilizer crisis: खाद संकट को लेकर किसानों में रोष बढ़ रहा है. खाद के अभाव में आलू की बुवाई व खेती नहीं हो पा रही ...अधिक पढ़ें

    कामिर कुरैशी

    आगरा. DAP खाद की समस्या दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है. जिसके कारण किसानों (Farmers) को आलू की बुवाई व खेती (Farming) करने में परेशानी हो रही है. किसान को खाद (fertilizer) की जरूरत कम से कम पांच बोरी की होती है, लेकिन उसको एक बोरी मिल रही है. किसानों का कहना है कि इस तरह से हम खेती कैसे करेंगे. धीरे धीरे करके फसल खराब हो रही है, और काफी नुकसान हो रहा है. प्रशासनिक अधिकारियों के द्वारा समस्या का निदान नहीं किया जा रहा है. वहीं ताजनगरी के थाना खंदौली क्षेत्र के उस्मानपुर में रविवार को किसान सेवा केंद्र न खुलने से किसान खासा नाराज दिखे.

    खाद संकट को लेकर किसानों में रोष बढ़ रहा है. किसानों के द्वारा आगरा-जलेसर मार्ग को जाम कर दिया गया. उनका कहना था कि जब तक सेवा केंद्र के ताले नहीं खुलेंगे तब तक जाम नहीं खुलेगा. हालांकि जानकारी मिलने पर थाना पुलिस मौके पर पहुंच गई. पुलिस के द्वारा किसानों को समझा बुझा कर जाम खुलवाया गया.

    आपके शहर से (आगरा)

    लगातार किया जा रहा प्रदर्शन

    DAP खाद की समस्या का निदान न होने से किसानों के द्वारा लगातार प्रदर्शन किया जा रहा है. किसानों के द्वारा कभी रोड जाम किया जा रहा है, तो कुछ किसान नेता प्रशासनिक अधिकारियों से मुलाकत कर खाद की समस्या से अवगत करा रहे है, लेकिन उसके बाद भी कोई समस्या का कोई निस्तारण नहीं निकाला गया.

    बहुत जल्द समाप्त होगी समस्या

    किसानों का कहना है कि कई बार अधिकारियों से मिले हैं. उनको परेशानी से अवगत कराया है. अधिकारी आश्वासन देते हैं कि बहुत जल्द DAP खाद की समस्या खत्म हो जायेगी, लेकिन आश्वासन खोखले साबित होते हैं, समस्या लगातार बढ़ती जा रही है.

    खाद विभाग ने किया था टीमों का गठन

    वहीं कुछ दुकानदारों के द्वारा DAP खाद को ब्लैक करके बेचा जा रहा था, जिसकी किसानों के द्वारा खाद विभाग के अधिकारियों से शिकायत की गई थी. विभाग के द्वारा कई टीमों का घटन किया था, और उन टीम को खाद की दुकानों पर छापेमार कर्यवाही के लिए कहा गया था, लेकिन टीमों का गठन होने के बाद भी खाद ब्लैक में बेची जा रही है और अधिकारी कुंभकरण की नींद सोए हैं.

    Tags: Agra fertilizer crisis, Agra news, Farmer protest for fertilizer, Up news today hindi

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें