COVID-19 से जंग: सब कुछ ठीक नहीं आगरा के इस मेडिकल कालेज में, सीएम योगी ने की कार्रवाई
Agra News in Hindi

COVID-19 से जंग: सब कुछ ठीक नहीं आगरा के इस मेडिकल कालेज में, सीएम योगी ने की कार्रवाई
एस एन मेडिकल कॉलेज-आगरा (फ़ाइल तस्वीर)

रिपोर्ट के मुताबिक कोरोना की जंग में समन्वयक बनाए गए मेडिसिन विभाग के एचओडी डॅा. पीके माहेश्वरी पर आरोप है कि वो ड्यूटी से बचने के लिए बड़ी चालाकी से खुद ही सितारा होटल में क्वारंटीन हो गए. सीएम योगी (CM Yogi) को जब इस बारे में जानकारी हुई तो उन्होंने डॅा. माहेश्वरी को सस्पेंड कर दिया...

  • Share this:
आगरा.  एक तरफ पूरा देश कोरोना (COVID-19) महामारी (Pandemic) के कहर से जूझ रहा है. अपनी जान पर खेल कर डॉक्टर्स व हेल्थ वर्कर (Health Workers) संक्रमितों का इलाज कर रहे हैं. लेकिन ताजनगरी आगरा (Taj City Agra) के एसएन मेडिकल कालेज (SN Medical College Agra) में सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है. एक तरफ जहां ज्यादातर सीनियर-जूनियर डाक्टर्स कोरोना योद्धा (corona warriors) के रूप में लोगों की जिन्दगी बचाने में लगे हैं वहीं चंद वरिष्ठ डाॅक्टर अपनी जिम्मेदारी से कन्नी काट रहे हैं.

रिपोर्ट के मुताबिक कोरोना की जंग में समन्वयक बनाए गए मेडिसिन विभाग के एचओडी डॅा. पीके माहेश्वरी पर आरोप है कि वो ड्यूटी से बचने के लिए बड़ी चालाकी से खुद ही सितारा होटल में क्वारंटीन हो गए. आपदा की घड़ी में जिम्मेदारी से बचने की ये बाजीगरी जब सीएम योगी (CM Yogi Adityanath) तक पहुंची तो सख्त कार्रवाई करते हुए मुख्यमंत्री ने मेडिसिन के एचओडी डॉ. पीके माहेश्वरी को निलम्बित कर दिया.

प्रिंसिपल के दायित्व से भागे डॉ. राजेश्वर
एसएन मेडिकल कालेज के प्रिंसिपल डाॅ. जी के अनेजा की आंख का आपरेशन होना था. डाॅ० आनेजा के आंख की हालत गम्भीर देख उन्हें इलाज कराने को छुट्टी मिली. आनेजा ने बाल रोग विभाग के एचओडी डाॅ. राजेश्वर दयाल को चार्ज दिया. अगले ही दिन कोरोना के मरीजों की बढ़ती संख्या को नजरअन्दाज कर डाॅ. राजेश्वर दयाल ने बीमारी का हवाला देते हुए खुद को मुक्त करा लिया और कोरोना की विषम परिस्थिति के बीच अहम जिम्मेदारी से वह बच निकले. अब सीएम योगी की सख्ती पर शासन ने बाल रोग विभाग के एचओडी डाॅ. राजेश्वर दयाल की जांच आगरा कमिश्नर अनिल कुमार को सौंप दी है और घोर अनुशासनहीनता पर डाॅ. राजेश्वर पर शिकंजा कस गया है. बेशक चंद डाक्टर कोरोना महामारी से जंग में कर्तव्यों से विमुख होने का खेल खेल रहे हैं लेकिन ज्यादातर डाक्टर, स्टाफ, वार्ड बॉय अपना फर्ज निभा रहे हैं. तीन डाॅक्टर और 4 वार्ड बॉय इलाज में लगे रहने के बीच कोरोना पाॅजिटिव हो गए. इसके बावजूद आपदा के इस काल में मेडिकल स्टाफ अपना शत-प्रतिशत योगदान दे रहा है.
ये भी पढ़ें- Corona warriors: आपदा से निपटने में मुस्तैदी से जुटी RSS, जरूरतमंद इन नंबरों पर कर सकते हैं संपर्क



 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading