Home /News /uttar-pradesh /

11 महीने पहले हुई हत्या के मामले में आगरा के पूर्व विधायक की पत्नी और दो बेटों पर मुकदमा दर्ज, जानें पूरा मामला

11 महीने पहले हुई हत्या के मामले में आगरा के पूर्व विधायक की पत्नी और दो बेटों पर मुकदमा दर्ज, जानें पूरा मामला

लेकिन मृत मजदूरों के परिजन आगे की कार्रवाई से इंकार कर रहे हैं. (सांकेतिक तस्वीर)

लेकिन मृत मजदूरों के परिजन आगे की कार्रवाई से इंकार कर रहे हैं. (सांकेतिक तस्वीर)

11 महीने पूर्व हुई हत्या के मामले में भाजपा (BJP) के पूर्व विधायक की पत्नी और दो बेटों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज हो गया है. विवाद पैसों के लेन देन का था, जिसके बाद मनोज मित्तल का शव मथुरा में पाया गया था. पुलिस ने मामला दर्ज नहीं किया. इसी मामले में अब अदालत के आदेश पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है.

अधिक पढ़ें ...
    आगरा.  ग्यारह महीने पूर्व मिले शव के मामले में आगरा की उत्तर विधानसभा से पांच बार भाजपा विधायक रहे स्वर्गीय जगन प्रसाद गर्ग (Jagan Prasad Garg) की पत्नी व दो बेटों के खिलाफ अदालत के आदेश पर हत्या का केस (Murder Case) दर्ज किया गया है. यह मुकदमा थाना लोहामंडी में में दर्ज किया गया. आगरा (Agra) की खंडेलवाल कॉलोनी निवासी महिला ने उन पर अपने पति की हत्या का आरोप लगाया है. महिला के मुताबिक, पुलिस के कार्यवाही न करने पर के बाद वह अदालत गईं थीं. तथ्यों के आधार पर अदालत ने केस दर्ज करने का आदेश दिया था. पुलिस अभी मामले में विवेचना की बात कह रही है. पूर्व बीजेपी विधायक के परिजनों का कहना है कि इस मामले में उनका कोई हाथ नहीं है.

    बताया गया है कि आगरा के थाना हरीपर्वत अन्तर्गत रिंग रोड खंडेलवाल कॉलोनी निवासी मनोज मित्तल (Manoj Mittal) का शव 18 फरवरी 2020 को गोकुल बैराज मथुरा में मिला था. शव मिलने के बाद मृतक की पत्नी प्रीति मित्तल ने पूर्व विधायक के बेटे सौरभ गर्ग व वैभव गर्ग पर हत्या का आरोप लगाया था. प्रीति के अनुसार पुलिस ने इस में न्याय न करते हुए उनकी शिकायत नहीं सुनी. इसके बाद उन्होंने न्यायालय में वाद दाखिल किया था.



    प्रीति का कहना है कि 10 अप्रैल 2019 को उत्तर विधान सभा से पूर्व विधायक जगन प्रसाद गर्ग की मृत्यु हुई थी. जगन प्रसाद गर्ग ने उनके पति से दस लाख उधार ले रखे थे. उन्हें इसके बदले में पांच-पांच लाख की दो चेक दिए गए थे. विधायक की मृत्यु के बाद जब उनके बेटों व पत्नी लक्ष्मी से पैसे वापस मांगे तो वह बार-बार समय देने की बात करकर टालते रहे. प्रीति के आरोप के मुताबिक, 17 फरवरी 2020 को वह तगादे के लिए गए तो उन्हें अगले दिन सुबह आने की बात कही गई. आरोप है कि अगली सुबह जब दोबारा उनके मनोज उनके पास गए तो विधायक पुत्रों व पत्नी ने उनके पति की हत्या करवा दी. इसके लिए न्यायालय में उन्होंने पोस्टमार्टम रिपोर्ट व चेकों को आधार बनाकर कार्रवाई की मांग की. न्यायालय ने सुनवाई के बाद थाना लोहामंडी पुलिस को मुकदमा दर्ज कर कार्यवाही के आदेश दिए हैं.

    बताया यह भी गया है कि पूर्व विधायक जगन प्रसाद गर्ग पर कई अन्य लोगों का भी करोड़ों रुपए कर्ज था. इसको लेकर कई बार हंगामा भी हुआ है.

    आपके शहर से (आगरा)

    Tags: Agra news, BJP, Up crime news, UP police

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर