SC/ST एक्ट के विरोध में सवर्णों का भारत बंद, आगरा व मैनपुरी में रोकी गईं ट्रेनें

आगरा के थाना पिनाहट क्षेत्र में आगरा- इटावा डीएमयू ट्रेन को रोका दिया गया. इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने करीब एक घंटे तक ट्रेन को रोके रखा और जमकर केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी की.

News18 Uttar Pradesh
Updated: September 6, 2018, 1:49 PM IST
SC/ST एक्ट के विरोध में सवर्णों का भारत बंद, आगरा व मैनपुरी में रोकी गईं ट्रेनें
आगरा में प्रदर्शनकारियों ने ट्रेन रोकी
News18 Uttar Pradesh
Updated: September 6, 2018, 1:49 PM IST
एससी/एसटी एक्ट संशोधन विधेयक के खिलाफ गुरुवार को तमाम सवर्ण संगठनों ने भारत बंद का आह्वान किया है. भारत बंद का असर यूपी के तमाम जिलों में देखने को मिल रहा है. आगरा और मैनपुरी में प्रदर्शनकारियों ने ट्रेनें रोक दीं. वहीं आगरा एक्सप्रेसवे को भी जाम कर दिया. इसके बाद पुलिस को लाठीचार्ज भी करना पड़ा.

आगरा के थाना पिनाहट क्षेत्र में आगरा- इटावा डीएमयू ट्रेन को रोका दिया गया. इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने करीब एक घंटे तक ट्रेन को रोके रखा और जमकर केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी की. मौके पर पहुंची जीआरपी और आरपीएफ ने बड़ी मुश्किल से प्रदर्शनकारियों को ट्रैक से हटाया.

उधर मैनपुरी में भी एससी-एसटी एक्ट के विरोध में भारत बंद के दौरान सवर्ण समाज के लोगों ने मोटा रेलवे स्टेशन पर फर्रुखाबाद-शिकोहाबाद पैसेंजर ट्रेन को रोक दिया. प्रदर्शनकारी इंजन पर चढ़ गए और जमकर नारेबाजी की. इस दौरान 45 मिनट तक ट्रेन खड़ी रही. पुलिस के पहुंचने के बाद नाराज़ सवर्ण ट्रैक से हटे.

इसके अलावा आगरा के थाना खेरागढ़ कसबे में प्रदर्शनकारियों ने बस में तोड़ फोड़ कर दी. उसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने जमकर लाठी चार्ज किया.

प्रदर्शनकारियों की ये है मांग

दरअसल, सवर्ण संगठनों की मांग है कि सरकार मार्च में आए सुप्रीम कोर्ट के आदेश को फिर से लागू करे. उनकी मांग है कि एससी-एसटी एक्ट के तहत तुरंत गिरफ्तारी पर रोक लगनी चाहिए. सवर्ण संगठनों ने केंद्र सरकार से यह भी पूछा है कि आखिर क्यों संसद में संशोधन विधेयक पास कराया गया.

ये भी पढ़ें:
Loading...
'नेताजी से पूछकर बनाया सेक्युलर मोर्चा, 2019 में हमारे बिना नहीं बनेगी सरकार'

बरेली: दरोगा ने SC/ST एक्ट में बीजेपी कार्यकर्ताओं पर लिखाया मुकदमा, भड़के विधायक
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर