उधारी न देने पर दोस्त ने किया दोस्त का कत्ल, जुर्म छिपाने किया ये काम

सांकेतिक फोटो.

सांकेतिक फोटो.

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के आगरा (Agra) में पुलिस (Police) ने पवन हत्याकांड का खुलासा कर दिया है. पुलिस का दावा है कि पवन की हत्या किसी और ने नहीं बल्कि उसी के दो दोस्तों ने मिलकर की थी.

  • Share this:
आगरा. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के आगरा (Agra) में पुलिस (Police) ने पवन हत्याकांड का खुलासा कर दिया है. पुलिस का दावा है कि पवन की  हत्या किसी और ने नहीं बल्कि उसी के दो दोस्तों ने मिलकर की थी. पवन की गर्दन पर धारदार हथियार से हमला किया गया था. उसके बाद सुबूत मिटाने के लिए शव को जलाने की भी कोशिश की गई थी.  दरअसल आगरा के ताजगंज इलाके में बीते 22 मार्च की सुबह खेतों में एक अज्ञात शव बरामद हुआ था. अज्ञात शव पुलिस के लिए एक बड़ा चैलेंज बन गया था. पुलिस ने महज 24 घंटे के अंदर शव की शिनाख्त कर ली और उस हत्या कांड की भी गुत्थी को सुलझा लेने का दावा किया.

पुलिस ने बताया कि  जिसकी हत्या हुई थी उसका नाम पवन था और वह सड़क के किनारे दुकान लगाकर रोजी रोटी चला रहा था. पास में ही उसका एक दोस्त अरुण भी फुटपाथ के किनारे दुकान चलाता था. दोनों के बीच रुपयों का लेनदेन था. आरोपी अरुण ने मृतक पवन से कुछ रुपए उधार ले रखे थे, जिसको लेकर पवन आए दिन अपनी उधारी मांगता था. अरुण ने उधारी ना देने के चक्कर में अपने एक दोस्त के साथ बाइक पर बिठाकर पवन को लेकर गया.  बाइक पर ले जाने के बाद अरुण और उसके साथी ने चाकू से पवन पर हमला कर दिया.  गर्दन पर भी ताबड़तोड़ हमले किए जिससे पवन की मौत हो गई.

शव पर डाला पेट्रोल

शव की शिनाख्त न हो उसके लिए दोनों ने पेट्रोल छिड़ककर आग लगाने की भी कोशिश की, लेकिन शव पूरी तरह से जल नहीं पाया था. फिलहाल पुलिस ने आरोपी अरुण और उसके साथी को जेल की सलाखों के पीछे भेज दिया है. मामले में जांच अब भी जारी है. पुलिस ने मामले में पैसों के लेनदेन के अलावा दूसरे एंगल की भी जांच कर रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज