होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /

आगरा में सामने आया 'लेडी लव जिहाद'! लापता अदिति के परिजनों ने सुनाई आपबीती

आगरा में सामने आया 'लेडी लव जिहाद'! लापता अदिति के परिजनों ने सुनाई आपबीती

 परिजनों के मुताबिक, 17 मई, 2022 को बड़ी बेटी के आने की बात बोलकर बेटी दरवाजा खोलने गई और फिर वापस नहीं आई.

परिजनों के मुताबिक, 17 मई, 2022 को बड़ी बेटी के आने की बात बोलकर बेटी दरवाजा खोलने गई और फिर वापस नहीं आई.

हालांकि बाद में आरोपी महिला के घर पर ना होने पर उन्होंने इस बात को कबूल किया कि दोनों साथ में भागी हैं. हमने काफी तलाश की, लेकिन अदिति का कुछ पता नहीं चला. इस मामले में हमने 24 मई को FIR दर्ज कराई. मगर, आज तक बेटी का पता नहीं चला है.’’ इस मामले में सीओ लोहामंडी गिरीश कुमार ने बताया कि थाना जगदीशपुरा को जल्द दोनों की तलाश कर बरामद करने के आदेश दिए हैं.

अधिक पढ़ें ...

आगरा. ताजनगरी आगरा में एक मुस्लिम युवती पर हिंदू लड़की को भगा ले जाने का आरोप लगा है. घरवालों का कहना है कि ये ‘लेडी लव जिहाद’ है. उनका कहना है कि पहले तो इस तरह के क्राइम में लड़के शामिल होते थे, लेकिन अब लव जेहाद में लड़कियों के शामिल होने की बात भी सामने आ रही है. दरअसल, कथित लेडी लव जिहाद की ये घटना 43 दिन पहले आगरा में हुई, लेकिन अब तक पीड़ित लड़की और आरोपी महिला का कोई सुराग नहीं मिला है. जब मामला मीडिया में आया, तो पुलिस हरकत में आई. घटना जगदीशपुरा इलाके के आवास विकास कॉलोनी की है.

जानकारी के मुताबिक, जगदीशपुरा में आवास विकास कॉलोनी के सेक्टर-1 में अनिल कुमार रहते हैं. उनकी 18 साल की बेटी अदिति ने इसी साल हाईस्कूल पास किया है. उनके घर के सामने शकीलुद्दीन का परिवार रहता है. शकीलउद्दीन शाह मार्केट में पार्किंग की ठेकेदारी का काम करते हैं. उसकी 30 साल की बेटी मंतशा अविवाहित है.अदि ति और मंतशा में गहरी दोस्ती थी. परिजन दोनों के लड़की होने के कारण विरोध नहीं करते थे. परिजनों के मुताबिक, 17 मई, 2022 को बड़ी बेटी के आने की बात बोलकर बेटी दरवाजा खोलने गई और फिर वापस नहीं आई. बाद में परिजनों ने उसे काफी तलाश किया, लेकिन उसका पता नहीं चला.

President Election: रामगोपाल यादव का बड़ा दावा, कहा- ओपी राजभर विपक्ष के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा के साथ

फिर आस-पास के सीसीटीवी चेक करने पर वह पड़ोसी महिला का हाथ पकड़कर जाती हुई दिखी. फिर जब आरोपी महिला के घर पर उसके परिजनों से पूछा गया तो पहले तो वो इनकार करते रहे कि उनकी बेटी का इस मामले में कोई हाथ है. हालांकि बाद में आरोपी महिला के घर पर ना होने पर उन्होंने इस बात को कबूल किया कि दोनों साथ में भागी हैं. हमने काफी तलाश की, लेकिन अदिति का कुछ पता नहीं चला. इस मामले में हमने 24 मई को FIR दर्ज कराई. मगर, आज तक बेटी का पता नहीं चला है.’’ इस मामले में सीओ लोहामंडी गिरीश कुमार ने बताया कि थाना जगदीशपुरा को जल्द दोनों की तलाश कर बरामद करने के आदेश दिए हैं. फिलहाल पुलिस की टीम जांच पड़ताल में जुटी है.

Tags: Agra news, Agra Police, UP Love Jihad Case, UP news, UP Police उत्तर प्रदेश, Yogi government

अगली ख़बर