• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • UP के इन जिलों में Lockdown 3.0 में नहीं मिलेगी कोई रियायत, शराब की दुकानें भी रहेंगी बंद

UP के इन जिलों में Lockdown 3.0 में नहीं मिलेगी कोई रियायत, शराब की दुकानें भी रहेंगी बंद

आगरा व मेरठ में नहीं मिलेगी कोई छूट

आगरा व मेरठ में नहीं मिलेगी कोई छूट

Lockdown 3.0: सूबे के सर्वाधिक प्रभावित आगरा और मेरठ में लगातार बढ़ रहे संक्रमण को देखते हुए लॉकडाउन में किसी भी तरह की छूट न देने का जिला प्रशासन ने फैसला लिया है.

  • Share this:
    आगरा/मेरठ. सोमवार यानी 4 मई से उत्तर प्रदेश में तीसरे चरण के तहत लॉकडाउन (Lockdown 3.0) लागू हो गई. दो हफ्ते के लिए बढ़ाये गए लॉकडाउन के दौरान प्रदेश को तीन जोन (रेड, ऑरेंज और ग्रीन) में बांटा गया है. साथ ही इस दौरान आमजनों की मुश्किलों को ध्यान में रखते हुए सशर्त कुछ छूट भी दी गई है. हालांकि, रेड जोन के हॉटस्पॉट और कंटेनमेंट इलाकों में पाबंदी पहले की तरह ही लागू रहेगी. लॉकडाउन-3 में यूपी के दो जिलों में कोई छूट नहीं मिलेगी. सूबे के सर्वाधिक प्रभावित आगरा और मेरठ में लगातार बढ़ रहे संक्रमण को देखते हुए लॉकडाउन में किसी भी तरह की छूट न देने का जिला प्रशासन ने फैसला लिया है. लिहाजा, आगरा व मेरठ में फिलहाल शराब की दुकानें भी नहीं खुलेंगी.

    जिलाधिकारी प्रभु एन सिंह ने बताया कि आगरा रेड जोन में है. जिस तरह से रविवार को 54 नए मरीज मिले हैं, उसे देखते हुए लॉकडाउन का सख्ती से पालन करवाया जाएगा. साथ ही किसी प्रकार की कोई छूट नहीं दी जाएगी. शराब की दुकानें भी नहीं खोली जाएंगी. साथ ही साइकिल, ऑटो, कैब, टैक्सी सहित बसों का संचालन भी नहीं होगा. स्पा, सलून, जिम, मॉल और मल्टीप्लेक्स भी नहीं खुलेंगे.

    मेरठ शहर कन्टेनमेंट जोन घोषित
    एक दिन में रिकॉर्ड 25 संक्रमित मरीज मिलने के बाद जिला प्रशासन और स्वास्थ्य महकमे में हड़कंप मच गया. इसके बाद जिलाधिकारी ने पूरे शहर को कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया. जिलाधिकारी अनिल ढींगरा ने बताया कि मेरठ रेड ज़ोन में है और संक्रमण का खतरा बरक़रार है. लिहाजा शहरी क्षेत्र में कोई राहत नहीं मिलेगी. शहरी क्षेत्र के उद्योग, व्यापर, दुकान-दफ्तर पूरी तरह से बंद रहेंगे. मेरठ जनपद में फ़िलहाल शराब की दुकानें भी नहीं खुलेंगी. केवल आवश्यक सेवाओं से जुड़े उद्योग और संस्थानों को ही संचालन की अनुमति होगी. जिलाधिकारी ने बताया कि मेरठ के अधिकांश औद्योगिक क्षेत्र शहरी क्षेत्र में आते हैं. लिहाजा, उनमें किसी प्रकार की छूट नहीं होगी. ग्रामीण क्षेत्रों में सशर्त आंशिक छूट मिलेगी. इसके लिए गठित कमेटियां ही यह निर्धारित करेंगी कि किन-किन उद्योगों व संस्थानों को खुलने की अनुमति होगी.

    शर्तों के साथ खुलीं शराब की दुकानें
    प्रदेश के मुख्य सचिव आरके तिवारी द्वारा दो हफ्ते के लिए बढ़ाये गए लॉकडाउन के लिए रविवार को नई गाइडलाइन जारी की गई. केंद्र के ही तर्ज पर योगी सरकार ने यूपी को भी तीन जोन में बांटते हुए कुछ छूट दी है. इसके तहत सुबह 10 बजे से शाम 7 बजे तक शराब की दुकानें कुछ शर्तों के साथ खोली जाएंगी. हालांकि, रेड जोन के हॉटस्पॉट और कन्टेनमेंट इलाकों में पूर्व की तरह ही पाबंदियां लागू रहेंगी. साथ ही आदेश में कहा गया है कि संक्रमण के खतरे को देखते हुए भीड़भाड़ वाली जगह जैसे, मॉल, मल्टीप्लेक्स, जिम, स्पा, सलून, पान-गुटके की दुकानें, साप्ताहिक बाजार, स्कूल और कॉलेज पूर्व की भांति बंद रहेंगे. मेट्रो, ट्रेन व बस की सेवाएं भी बंद रहेंगी.

    ये भी पढ़ें:

    यूपी में आज से शराब की बिक्री शुरू, ज्‍यादा पैसे लिए तो होगी कड़ी कार्रवाई

    नोएडा में 17 मई तक बढ़ाई गई धारा 144, शादी में इतने लोग ही हो सकते हैं शामिल

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज