Home /News /uttar-pradesh /

Naturopathy-day :-Agra- बिना दवाइयों के ठीक होंगी शरीर की बड़ी से बड़ी बीमारी,प्राकृतिक चिकित्सा दिवस पर जानिए विशेषता

Naturopathy-day :-Agra- बिना दवाइयों के ठीक होंगी शरीर की बड़ी से बड़ी बीमारी,प्राकृतिक चिकित्सा दिवस पर जानिए विशेषता

सुबह-सुबह

सुबह-सुबह प्राणायाम करने से भी शरीर को होता है बेहद लाभ

व्यस्तता के दौर में लोगों की अनियमित जीवनशैली के कारण कई प्रकार की बीमारियां घेर रही हैं.डॉक्टरों ने बताया की प्राकृतिक चिकित्सा ऐसी पद्धति है जो शरीर को खुद ही ठीक कर लेती है. जिसके कई सारे फायदे हैं और इसमें कोई भी दवा लेने की जरूरत नहीं होती है.

अधिक पढ़ें ...

    देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 18 नवंबर 2018 को आयुषमान मंत्रालय का गठन किया.प्राकृतिक चिकित्सा Naturopathyको इस मंत्रालय के द्वारा बढ़ावा दिया जा रहा है. हर साल 18 नवंबर को प्राकृतिक चिकित्सा दिवस मनाया जाता है.आगरा के सूर सदन में भी गुरुवार प्राकृतिक चिकित्सा दिवस (Naturopathy-day)के मौके पर कार्यक्रम किया गया.जिसमें विशेषज्ञों ने प्राकृतिक चिकित्सा के लाभ के बारे में लोगों को बताया.डॉक्टरों ने बताया की प्राकृतिक चिकित्सा ऐसी पद्धति है जो शरीर को खुद ही ठीक कर लेती है. जिसके कई सारे फायदे हैं और इसमें कोई भी दवा लेने की जरूरत नहीं होती है.

    भागती दौड़ती जिंदगी में लोगों को जकड़ रही है अनेकों बीमारियां, प्राकृतिक चिकित्सा से कर सकते हैं ठीक
    व्यस्तता के दौर में लोगों की अनियमित जीवनशैली के कारण कई प्रकार की बीमारियां घेर रही हैं. इन सभी प्रकार की बीमारियों के इलाज के लिए कई दवाइयां (Medicines) उपलब्ध हैं, लेकिन दवाइयों के कई नुकसान भी हैं. डॉक्टरों ने बताया कि प्राकृतिक चिकित्सा से बिना दवाई के शरीर को ठीक किया जा सकता है .ऐसे में शरीर के लिए सही इलाज है प्राकृतिक चिकित्सा (Naturopathy). प्राकृतिक चिकित्सा से तात्पर्य है, प्रकृति के साथ रहकर शरीर को स्वस्थ रखना.आयुर्वेद (Ayurveda) के अनुसार, सूर्योदय से पहले उठना,हमारे शरीर और मन के लिए अच्छा होता है क्योंकि सुबह शुद्ध वायु और सूर्य की धीमी रोशनी से मन मस्तिष्क ऊर्जा से भर जाते हैं.

    इन बातों का रखेंगे ध्यान तो होगा चमत्कारी लाभ
    90 फ़ीसदी बीमारियां पेट से होती है अगर आप इन बातों का ध्यान रखेंगे तो आप भी कई सारी बीमारियों से बच सकेंगे.
    ●रोजाना सुबह 4:00 बजे से 5:00 के बीच में ब्रह्म मुहूर्त होता है उस ब्रह्म मुहूर्त में उठने का प्रयास करें.
    ●सुबह उठते ही तीन से चार गिलास गुनगुना पानी पिए.
    ●रोजाना कम से कम 5 किलोमीटर तक टहलने के लिए निकले,ताज हवा में सांस ले.
    ●जहां तक संभव हो सुबह आधा घंटे की गुनगुनी धूप ले, जिससे हड्डियां मजबूत होती है और शरीर में विटामिन डी की कमी पूरी होती है.
    ●भोजन को चबा चबा कर खाएं और भोजन के बाद कम से कम 100 कदम टहले .
    ●भोजन खाने के तुरंत बाद पानी ना पिए.हो सके तो हफ्ते में एक दिन उपवास रखें जिससे शरीर की पचाने की क्षमता बढ़ती है .
    ●रोजाना योग और प्राणायाम करें.
    ● सबसे जरूरी शरीर को स्वस्थ रखने के लिए योगा और एक्सरसाइज जरूर करें.

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर