• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • नवरात्रि स्पेशल:- आगरा में मौजूद है कामाख्या देवी का ऐसा चमत्कारी मंदिर जहां 80 सालों से जल रही है अखंड ज्योति

नवरात्रि स्पेशल:- आगरा में मौजूद है कामाख्या देवी का ऐसा चमत्कारी मंदिर जहां 80 सालों से जल रही है अखंड ज्योति

मन्दिर

मन्दिर में पूजा करता भक्त

कामाख्या देवी के मंदिर में 80 सालों से अनवरत अखंड ज्योति जल रही है .जो अभी तक कभी बुझी नहीं है. देवी मां का चमत्कार दूर दूर तक फैला हुआ है.

  • Share this:

    आगरा के हाथी घाट पर एक ऐसा चमत्कारी कामाख्या देवी का मंदिर है. जहां 80 सालों से अनवरत अखंड ज्योति जल रही है. इस मंदिर में रहस्यमई शक्ति हैं. कहा जाता है कि इस मंदिर की चौखट पर सर झुकाने से ऊपरी चक्कर भी खत्म हो जाता है. इन दिनों नवरात्रि चल रहे हैं.यहां पर कामाख्या देवी का सैकड़ों साल पुराना मंदिर मौजूद है. इस मंदिर के बारे में कहा जाता है कि तब यमुना किनारे यहां जंगल हुआ करता था और जंगल में देवी की प्रतिमा अपने आप बाहर निकल आई थी. वहीं के एक सज्जन को देवी मां ने स्वप्न में अपने वहां होने का एहसास कराया.अगले दिन देवी उसी जगह पर मिली और मंदिर की हुई स्थापना.

    80 सालों से चल रही है मंदिर में अखंड ज्योति
    मंदिर की देखरेख करने वाली सुमन देवी बताती हैं कि कामाख्या देवी के मंदिर में 80 सालों से अनवरत अखंड ज्योति जल रही है .जो अभी तक कभी बुझी नहीं है.यहां पर दूर-दूर से लोग अपनी मुराद मांगने के लिए आते हैं इस मंदिर का निर्माण आज से लगभग 100 साल पहले बंगाली बाबा ने करवाया था. कहा जाता है कि बंगाली बाबा को सपनों में माता ने दर्शन दिए और अपनी प्रतिमा का यमुना के किनारे होने का एहसास कराया था. अगले दिन बाबा उसी जगह पर पहुंचे जहां पर सपने में माता ने उन्हें अपनी मूर्ति होने का संकेत दिया था.जिसके बाद यमुना के किनारे मंदिर की स्थापना हुई थीं.

    मंदिर में है रहस्यमई त्रिशूल
    यहां के भक्त बताते हैं कि मंदिर में एक चमत्कारी रहस्यमयी त्रिशूल है. जिसे खुद बाबा ने उस मंदिर के स्थापना के समय माता के दरबार में लगाया गया था. पुराना होने के कारण कई बार उसे बदलने की कोशिश की गयी है . लेकिन लोग उसमें कामयाब नहीं हो पाए . वो त्रिशूल आज भी उस मंदिर में मौजूद है. लोग मन्नत मांगने आते हैं और यहां धागा भी बांधते हैं भक्तों की यहां हर मुराद पूरी होती है.

    टल जाता है ऊपरी चक्कर
    कामाख्या देवी मंदिर के ऐसी मान्यता है कि यहां पर किसी व्यक्ति के ऊपर आग ऊपरी चक्कर हो वो भी टल जाता है. माता के आगे सर झुकाने से माता अपने भक्तों पर आए हर मुसीबत को हर लेती है . यहां पर हर रोज कई ऐसे मरीज आते हैं जिनके ऊपर कोई ऊपरी चक्कर या हवा होती है. उसके इलाज के लिए यहां पर भक्त देवी मां के दरबार में सर झुकाते हैं.नौ देवियों में माता का फूल बंगला सजता है. इस मंदिर में नौ देवियां विराजमान हैं जिनकी विशेष पूजा की जाती .

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज