Agra: GST के फरार अधिकारियों पर पुलिस ने घोषित किया 25-25 हजार का इनाम, CM योगी ने दिया था दखल, जानें मामला

मामला 43 लाख रुपये के हड़पने का है.

Agra News: आगरा पुलिस ( Agra Police) ने चांदी व्‍यापारी से 43 लाख रुपये हड़पने के मामले में जीएसटी ( GST) के दो अधिकारियों के अलावा एक ड्राइवर पर 25-25 हजार का इनाम घोषित किया है. इस मामले में सीएम योगी के दखल के बाद पुलिस ने कई टीमें बनाई हैं.

  • Share this:
आगरा. यूपी के आगरा में फरार जीएसटी ( GST)के अधिकारियों पर पुलिस ( Agra Police) ने इनाम घोषित किया है. जीएसटी के दो अधिकारियों और एक निजी ड्राइवर पर इनाम घोषित किया गया है. बता दें कि इन तीनों पर मथुरा के व्यापारी से 43 लाख रुपये हड़पने के मामले में 25-25 हजार का इनाम घोषित हुआ है. दरअसल पिछले दिनों मथुरा के एक कारोबारी प्रदीप अग्रवाल बिहार से चांदी बेच कर लौट रहे थे. कारोबारी कार से लौट रहे थे, जिसमें 43 लाख रुपये कैश रखा हुआ था.

इस बीच जैसे ही कारोबारी प्रदीप अग्रवाल की कार आगरा टोल पर पहुंची वैसे ही कार को रुकवा लिया गया. कार को पुलिस सिपाही संजीव कुमार ने रोका था. इसके बाद टोल पर मौजूद जीएसटी के अधिकारी कारोबारी को अपने ऑफिस ले आये. ऑफिस लाने के बाद कारोबारी से 43 लाख रुपये लेकर उसे भगा दिया.



मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से हुई थी शिकायत
इसके बाद 13 मई को प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ का आगरा दौरा था. इस दौरे के दौरान व्यापारियों का एक डेलिगेशन सीएम योगी से मिला. सीएम ने इस मामले को गंभीरता से लिया और आला अधिकारियों को मामले की जांच के आदेश दिए. यही नहीं, सीएम योगी की सख्ती के बाद इस मामले की जांच पड़ताल हुई तो जीएसटी के दो अधिकारी एक निजी ड्राइवर और एक सिपाही संलिप्त पाया गया. जांच के बाद थाना लोहामंडी में सभी के खिलाफ केस दर्ज हुआ . असिस्टेंट कमिश्नर अजय कुमार, वाणिज्य कर अधिकारी शैलेंद्र कुमार, सिपाही संजीव और ड्राइवर दिनेश के खिलाफ केस दर्ज हुआ. इस मामले सिपाही संजीव को गिरफ्तार करके जेल भेज गया है. जबकि बाकी बचे आरोपियों की तलाश शुरू कर दी. केस दर्ज होने के बाद जीएसटी के अधिकारियों को सस्पेंड भी कर दिया गया था.

एसपी सिटी ने कही ये बात
एसपी सिटी रोहन पी बोत्रे ने बताया कि फरार चल रहे तीनों आरोपियों की तलाश की जा रही है. तीनों की गिरफ्तारी के लिए कई टीमें बना दीं है जो तलाश में जुटी हुई हैं. जीएसटी के दोनों अधिकारी और निजी ड्राइवर पुलिस की गिरफ्त में नहीं आये हैं, लिहाजा तीनों पर 25-25 हजार का इनाम घोषित कर दिया. उम्मीद है जल्द तीनों की गिरफ्तारी हो जाएगी.