Video में देखिए कैसे कथावाचक देवकी नंदन ठाकुर को दी जा रही बोटी-बोटी काटने की धमकी

कथावाचक देवकी नंदन ठाकुर को एक शख्स ने सोशल मीडिया पर बोटी-बोटी काटने की धमकी दी है. धमकी देने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है. धमकी देने वाले ने खुद को भीम आर्मी का बताया है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: September 12, 2018, 11:54 AM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: September 12, 2018, 11:54 AM IST
कथावाचक देवकी नंदन ठाकुर को एक शख्स ने सोशल मीडिया पर बोटी-बोटी काटने की धमकी दी है. धमकी देने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है. धमकी देने वाले ने खुद को भीम आर्मी का बताया है. धमकी देने का वीडियो न्यूज 18 के पास उपलब्ध है.

धमकी पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए मथुरा के अपने आश्रम में रहने वाले कथावाचक देवकी नंदन ठाकुर ने बहुत सधी हुई प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने कहा कि वे ऐसी धमकियों से डरने वाले नहीं हैं. साथ ही ठाकुर ने कहा कि वे इस मामले में मुकदमा दर्ज कराएंगे.

इससे पहले मंगलवार को आगरा में एससी-एसटी एक्ट में संशोधन के खिलाफ समर्थकों के साथ प्रदर्शन कर रहे कथावाचक देवकी नंदन ठाकुर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था. पुलिस के अनुसार ठाकुर पर पत्रकार वार्ता के दौरान ऐसे वक्तव्य देने का आरोप है, जिससे शांति भंग हो सकती है. न्यू आगरा थाना क्षेत्र के कमलानगर के एक होटल से कथावाचक की गिरफ्तारी की गई. गिरफ्तारी के कुछ घंटे बाद ही देवकीनंदन ठाकुर को रिहा कर दिया गया. उन्हें पहले पुलिस लाइन भेजा गया, जहां से उन्हें मथुरा रवाना कर दिया गया.

बता दें कि मंगलवार को मथुरा आश्रम से कथावाचक देवकी नंदन ठाकुर आगरा पहुंचे थे. कमलानगर में समर्थकों से विचार-विमर्श के बाद ठाकुर ने पत्रकारों के समक्ष एससी-एसटी एक्ट के मसले पर अपनी राय रखी. ठाकुर ने कहा कि बहुत जल्द बड़ा आंदोलन किया जाएगा.

कथावाचक के संबोधन के बीच ही होटल में सैकड़ों पुलिसकर्मी पहुंच गए. कुछ ही देर में पुलिस प्रशासन के अधिकारी भी वहां पहुंचे और दो घंटे की घेराबंदी के बाद देवकी नंदन ठाकुर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. पुलिस के अनुसार ये गिरफ्तारी शांति भंग की आशंका की धाराओं में की गई थी.

दरअसल, कथावाचक देवकी नंदन ठाकुर की खंदौली में महापंचायत आयोजित थी. इस महापंचायत पर पुलिस-प्रशासन ने रोक लगाई थी, लेकिन रोक के बाद भी ठाकुर अपनी बात रखने शहर के होटल में पहुंचे थे. मामले की भनक लगते ही पुलिस ने ठाकुर को गिरफ्तार कर लिया था.

(रिपोर्ट: हिमांशु त्रिपाठी)

ये भी पढ़ें: 

यूपी में WhatsApp ने तोड़ दी जोड़ी, निकाह से एक घंटा पहले दूल्हे का शादी से इंकार

शरिया अदालत की तर्ज पर हिंदू कोर्ट: HC ने राज्य सरकार से 17 सितम्बर तक मांगा जवाब

IPS सुरेंद्र दास सुसाइड मामले में कानपुर की सीजेएम कोर्ट में परिवाद दाखिल
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर